Arbi Khane Ke Fayde -Taro Root Benefit in HIndi. अरबी के औषधीय उपयोग।

Please Share This

Arbi Khane ke Fayde-Arbi सब्जी - Taro Root के औषधीय लाभ

पोस्ट की सम्पूर्ण जानकारी।

सेहत के लिए अरबी खाने के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान इन हिंदी। Arbi Khane Ke Fayde. 

Arbi Khane Ke Fayde – अरबी एक जड़ वाली सब्जी होने के साथ साथ इसका का उपयोग आयुर्वेद में भी किया जाता है। The Taro Root Benefits In Hindi जारकारी। अरबी सब्जी  को भारत में कई प्रकार के नामों से जाना जाता है। Arbi Taro Root Vegetable का उपयोग कई जगह व्रत में फलाहार के रूप में भी किया जाता है। साथ ही अरबी से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं। जैसे कि सब्जी, पकोड़े, कढ़ी में भी डाला जा सकता है.

Arbi Vegetable in Hindi | Arbi Sabji in Hindi | Arbi Khane Ke Fayde.

इसके साथ ही आप अरबी सब्जी के पत्तों के पकोड़े कबाब आदि भी बना कर खा सकते हैं यह हेल्थ के लिए बहुत अच्छे होते हैं अरबी के पत्तों में बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं इस लिहाज से अरबी को औषधीय के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। अरबी खाने के फायदे Or Arbi Ke Nuksan Hindi Me के बारे में जानकारी देंगे।

Arbi सब्जी की जानकारी हिंदी में।

अरबी खाने से अधिक मात्रा में पेशाब लगता है अरबी की सब्जी आलू की सब्जी की तरह ही होती है। यह भी आलू की तरह मिटटी के अंदर होती है। अरबी सब्जी अंदर से चिकनी होती है अरबी बाजार में आपको आसानी से उपलब्ध हो जाएगी। भारत में अधिकतर लोग अरबी की सब्जी बना कर खाना पसंद करते हैं अरबी खाने से भूख बढ़ती है.

अरबी को विभिन्न नामों से भी जाना जाता है। आज हम आपको अरबी खाने के फायदे और अरबी सब्जी के पत्तों के फायदे और इसके नुकसानो में विस्तार से बताएंगे। Arbi In Hindi. अरबी को अंग्रेजी में तारो रुट (Taro Root) कहते हैं।

अरबी सब्जी की विषय सूची –  Taro Root Vegetable Table Of Contents In Hindi.

  1. Arbi-सब्जी के पोषक तत्व।
  2. अरबी के पत्तों में पाए जाने वाले पोषक तत्व।
  3. अरबी का वैज्ञानिक नाम।
  4. अरबी के फायदे।
  5. अरबी के पत्तों के फायदे।
  6. अरबी के नुकसान।
  7. अरबी के उपयोग व अरबी के पकवान।
  8. गर्भवती महिलाओं के लिए अरबी के फायदे।

अरबी जड़ में पाए जाने वाले पोषक तत्व- Nutrients Found In Taro Root In Hindi. 

Arbi सब्जी हमारे शरीर को बहुत सारे पोषक तत्व प्रदान करती है इस लिहाज से यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है अरबी में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं:

  • *प्रोटीन
  • *कैल्शियम
  • *विटामिन ए
  • *विटामिन सी
  • *विटामिन बी
  • *विटामिन ई
  • *विटामिन B6
  • *आयरन
  • *फाइबर
  • *एंटी ऑक्सीडेंट
  • *खनिज
  • *फोलेट
  • *मैग्नीशियम
  • *जिंक
  • *फास्फोरस
  • *पोटेशियम
  • *मैग्नीज

अरबी सब्जी के पत्तों में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Found In Taro Root Leaves In Hindi.

जिस प्रकार से Arbi सब्जी हमारे शरीर को बहुत सारे पोषक तत्व प्रदान करती है। उसी प्रकार से अरबी के पत्ते भी बहुत ही गुणकारी होते हैं।

  1. *विटामिन ए
  2. *विटामिन सी
  3. *कैल्शियम
  4. *फोलेट

अरबी सब्जी का वैज्ञानिक नाम – Taro Root Scientific Name In Hindi.

अरबी का वैज्ञानिक नाम कोलोकेशिया  एस्क्यूलेंटा (Colocasia Esculenta) है।

अरबी सब्जी खाने के फायदे – Arbi Khane Ke Fayde in Hindi.  

अरबी सब्जी खाने के बहुत सारे फायदे हैं अरबी हमारे शरीर को कई रोगों से दूर रखती है तो चलिए जानते हैं अरबी खाने से हमारे शरीर को क्या फायदे मिलते हैं। वैसे तो Arbi Sabji Khane Ke Fayde.के बहुत से फायदे होते है। हम यहां सिर्फ आपको दैनिक जीवन में आने वाले फायदे और नुकसान बताएंगे।    

Arbi Khane ke Fayde-Arbi सब्जी - Taro Root के औषधीय लाभ

1. झुर्रियां दूर करें अरबी सब्जी – Remove Wrinkles Taro Root Vegetable In Hindi.

अरबी खाने से त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियां दूर होती है और इसके साथ ही त्वचा का रूखापन भी समाप्त होता है। और अरबी बढ़ती उम्र के प्रभाव को भी कम करने के साथ साथ यह शरीर के सभी पोषक तत्व की कमी को पूरा  में भी सक्षम है।

2.वजन को कम करने में अरबी – Taro Root In Reducing Weight In Hindi.

अरबी हमारे बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित करती है अरबी में फाइबर की अधिक मात्रा होती है जो वजन को कम करने में हमारी सहायता करती है। इसलिए जो लोग जिम जाते है।  अपना वजन कम करने के लिए उन्हें अरबी को भी अपने आहर में शामिल करना चाहिए। ताकि मोटापे से छुटकारा मिल सके।

3. डायबिटीज में अरबी के फायदे – Benefits Of Taro Root In Diabetes In Hindi. 

अरबी की सब्जी खाने से मधुमेह की बीमारी को कम किया जा सकता है अरबी शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज को कंट्रोल में करती है। इसलिए हमे हफ्ते में एक बार तो जरूर अरबी की सब्जी का सेवन करना चाहिए।

4. कीट के काटने पर अरबी के उपयोग – Uses Of Taro Root On Insect Bites In Hindi. 

अक्सर गर्मियों में या बारिश के मौसम में छोटे – छोटे कीटों का प्रभाव ज्यादा होता है। जो हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचाते है। इसलिए कीट की कटी हुई जगह पर अरबी को काट कर उस जगह पर रगड़े ऐसा करने से कीट का जहर उतर जाता है और वहां पर अतिरिक्त सूजन का प्रभाव भी नहीं होता।

5. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करें अरबी सब्जी – Control Taro Root Vegetables In Blood Pressure In Hindi.

Arbi Sabji में पोटेशियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं इसके साथ ही सोडियम की अच्छी खासी मात्रा भी पाई जाती है जिससे ब्लड प्रेशर का स्तर ठीक रहता है।

6.पाचन तंत्र के लिए लाभदायक अरबी – Taro Root Vegetables Beneficial For Digestive System In Hindi.

Arbi Khane Ke Fayde – अरबी सब्जी पाचन तंत्र को तंदुरुस्त बनाए जाती है अरबी खाने से कब्ज की शिकायत नहीं होती बल्कि मल को त्यागने में हमारी मदद करती है। साथ ही अरबी पेट में बनने वाली गैस के प्रभाव को भी कम करती है। इसलिए हमे अपनी  पाचन शक्ति को मजबूत बनाने के लिए अरबी का सेवन जरूर करना चाहिए।

7. स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अरबी के उपयोग – Taro Root Usage For Lactating Women In Hindi.

Arbi Khane Ke Fayde – जो महिलाएं अपने बच्चे को दूध पिलाती है तो उन महिलाओं को अरबी सब्जी जरूर खानी चाहिए इससे स्तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध की मात्रा बढ़ती है।

अरबी के पत्तों के फायदे – Benefits Of Taro Root Leaves In Hindi.

जिस तरह अरबी सब्जी खाने से हमारे शरीर को बहुत सारे फायदे मिलते हैं उसी प्रकार से अगर अरबी के पत्तों का नियमित मात्रा में सेवन किया जाए तो यह भी हमारे शरीर को बहुत सारे फायदे देते हैं। Arbi Khane Ke Fayde

1. पिंपल्स में लाभकारी अरबी के पत्ते – Beneficial Taro Root  Leaves In Pimps In Hindi.

अरबी सब्जी के पत्ते हमारे मुँह या चहरे पर होने वाले पिंपल्स को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। अरबी के पत्तों की ठंडल को जला लें और इस से बनने वाली राख में नारियल का तेल डालें इस मिश्रण को पिंपल्स पर लगाएं ऐसा करने से पिंपल्स जल्दी सही होने लगेंगे।

2. गैस की समस्या में अरबी के पत्ते – Taro Root Leaves In Gas Problem In Hindi.

अक्सर बढ़ती उम्र के हिसाब से हमारे शरीर में गैस की दिक्कत होने लगती है। पेट में गैस के प्रभाव को कम करने के लिए। अरबी सब्जी के पत्तों को पानी में उबाल लें इसके बाद इस पानी में घी डालें और इस पानी को पीने से गैस की प्रॉब्लम से छुटकारा मिलता है।

3. आंखों की रोशनी बढ़ाए अरबी के पत्ते – Taro Root Leaves Increase Eyesight In Hindi. 

आजकल छोटे से लेकर बड़ों तक आँखों की समस्या होना आम बात है। आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए। अरबी के पत्तों की सब्जी का सेवन किया जाए तो यह समस्या दूर हो सकती है। अरबी के पत्तों में विटामिन ए पाया जाता है जो आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

4. गठिया रोग में अरबी के पत्ते – Taro Root Leaves In Arthritis In Hindi.

सभी आयु वर्ग के लोगो में जोड़ो के दर्द या घुटनों के दर्द की समस्या आम हो गयी है गठिया  रोग यानी जोड़ों के दर्द में अरबी सब्जी के पत्ते काफी लाभकारी होते हैं हफ्ते में दो या तीन बार इसकी सब्जी बना कर खाएं या फिर आप इसके पकोड़े बनाकर भी खा सकते हैं।

5. नपुंसकता को दूर करें अरबी सब्जीके पत्ते – Remove Impotence Taro Root Leaves In Hindi .

शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए अरबी सब्जी के पत्तों का सेवन बहुत गुणकारी होता है इसकी आप सब्जी या फिर पत्तों को पानी में उबालकर नमक डालकर खाइए इससे नपुसंकता की समस्या दूर हो जाएगी।

प्रेगनेंसी में अरबी खाने के लाभ – Benefits Of Eating Taro Root In Pregnancy In Hindi.

अरबी सब्जी में गर्भवती महिलाओं के लिए पाए जाने वाले लगभग सभी जरूरी  पोषक तत्व जैसे कैल्शियम, विटामिन सी, प्रोटीन, विटामिन ए, फाइबर, पोटैशियम और आयरन मौजूद होते है। यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं में हो रहे बदलाव के कारण शरीर को स्वस्थ व मजबूती प्रदान करते है।

साथ ही पेट में पल रहे शिशु के सम्पूर्ण विकास में भी योगदान देते है। परन्तु इन सभी Arbi Khane Ke Fayde को देखते हुए। गर्भवती महिलाओं को अरबी का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। इसके नुकसान भी होते है। अरबी सब्जी प्रेग्नेंट महिलाओं को कब्ज़, एसिडिटी जैसी समस्या से छुटकारा दिलाती है।

Arbi Sabji के उपयोग – Arbi Khane Ke Fayde – अरबी के उपयोग। 

Uses Of Taro Root Vegetable In Hindi | Arbi Khane Ke Fayde |

आज हम अरबी सब्जी के उपयोग की जानकारी देंगे। अरबी को कभी भी कच्चा नहीं खाना चाहिए क्योकि यह कच्ची होने पर हमारे लिए नुकसान दायक होती है। इसलिए जब इसे खाये तो इसे फ्राई , या भून कर ही खाये। या सब्जी बनाकर।

  1. 1.अरबी के पत्तों की सब्जी बनाई जाती है।
  2. 2.अरबी के पेड़ की जड़ से निकलने वाली अरबी से सब्जी बनाई जाती है।
  3. 3.अरबी से हम पकोड़े, चिप्स भी बना सकते है।
  4. 4.अरबी को उबाल कर हम पराठे भी बना सकते है। जो बहुत ही अच्छा नास्ता बनता है।
  5. 5.अरबी के पत्तों के पकोड़े भी बनाये जाते है।
  6. 6.अरबी के कोफ्ते भी बनाए जाते है जो खाने में स्वादिष्ट होते है।
  7. 7.अरबी के पराठों की सब्जी भी बहुत अच्छी बनती है।
  8.  8.अरबी का उपयोग व्रत और त्यौहार पर भी किया जाता है।

अरबी सब्जी खाने के नुकसान। Arbi Sabji Khane Ke Nukshan in Hindi.

Disadvantages Of Eating Taro Root Vegetable In Hindi .

  1. 1.अरबी सब्जी खाने के बहुत सारे नुकसान भी हैं यदि इसका अधिक मात्रा में सेवन किया गया तो यह हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकती है।
  2. 2.अरबी का अधिक मात्रा में सेवन ना करें इससे मोटापा बढ़ सकता है।
  3. 3.अरबी सब्जी को कभी भी खाए तो अच्छी तरह पका कर ही खाएं क्योंकि अरबी सब्जी मेंकैल्शियम ऑक्सलेट्स पाया जाताहै जो टॉक्सिन युक्त होता है. इसलिए अधपकी अरबी से पेट दर्द, पेट में गैस की शिकायत हो सकती है।
  4. 4.कैल्शियम, ऑक्सालेट और फास्फोरस ये सभी अरबी में पाए जाते है। इनकी मात्रा शरीर में बढ़ने के कारण आपको पथरी की समस्या हो सकती है। इसलिए अरबी का ज्यादा सेवन न करे।
  5. 5.जिन लोगो को खासी समस्या होती है। उन्हें अरबी का सेवन नहीं करना चाहिए।
Subject:- 

Taro Roots Benefits | Arbi Sabji Uses And Side Effects In Hindi | अरबी खाने के फायदे जाने हिंदी में | अरबी सब्जी के स्वास्थ्य लाभ |  अरबी सब्जी के औषधीय गुण फायदे व लाभ। | अरबी सब्जी के नुकसान। | अरबी सब्जी रेस्पी |

Note:-  हमारी यह वेबसाइट आपको किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह नही देता हैं. बताए गए घरेलू उपचारों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से सम्पर्क जरुर करे।

निष्कर्ष:- 

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख Arbi Sabji Ke Fayde, Gun Nuksan, Arbi Sabji Ke Benefits व Upyog. अच्छा लगा तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और भी लेटेस्ट जानकारी के लिए बने रहे हमारे इस ब्लॉग superfast3education पर।

Read More :-

Please Share This
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *