Gular Fruit Khane Ke Fayde Gun Labh or Nuksan In Hindi. गूलर के फायदे।

Please Share This

Gular Fruit Khane Ke Fayde Gun Labh or Nuksan In Hindi.

पोस्ट की सम्पूर्ण जानकारी।

सेहत के लिए गूलर के फल, वृक्ष के औषधीय लाभ व उपाय। Gular Fruit Khane Ke Fayde.

Gular Fruit Khane ke Gharelu Nuskhe. | Gular Fruit Health Benefits And Side Effects In Hindi. | Gular Ke Dudh Ke Fayde. Gular ki jd ke fyade. |  Health Benefits of Gular Fruit in HIndi. |  Gular Ke Patton Ke Fayde. | 

गूलर फल खाने के फायदे गुण व नुकसान हिंदी में .गूलर फल अंजीर के फल जैसा होता है गूलर के फल मार्च और जून के महीने में लगते हैं गुलर के कच्चे फल की सब्जी बनाई जाती हैं गूलर की छाल से बनने वाले चूर्ण का प्रयोग कई प्रकार के रोगों में किया जा सकता है गूलर के फल टहनियो पर  गुच्छो के रूप में लगते हैं गुलर से जुड़ी एक धारणा यह है कि यदि गूलर के फूल अगर किसी ने देख लिए तो उसकी किस्मत चमक जाती है। गूलर में मोम रबड़ व टैनिन व फास्फोरिक एसिड भी पाए जाते है। तो चलिए शुरू करते है। गूलर को English में Fig Sycamore कहते है।  Gular Fruit In Hindi.

गूलर की विषय सूची – Sycamore Table In Hindi

  1. गूलर का वैज्ञानिक नाम।
  2. गुलर क्या है?
  3. गूलर के औषधीय गुण।
  4. विभिन्न भाषाओं में गूलर के नाम।
  5. गुलर में पाए जाने वाले पोषक तत्व।
  6. गूलर की किस्में।
  7. गुलर की पैदावार।
  8. गूलर के फायदे
  9. खूनी बवासीर में गुलर के दूध के फायदे।
  10. दांतो को मजबूत बनाएं गूलर का काढ़ा।
  11. श्वेत प्रदर में गूलर फल का उपयोग
  12. नींद न आने की समस्या में गूलर फल के फायदे।
  13. मासिक धर्म संबंधित समस्याओं में गूलर की छाल के उपयोग।
  14. मधुमेह में गूलर फल का उपयोग।
  15. पिंपल्स की समस्याओं में गूलर का दूध का उपयोग।
  16. आंखों के उपचार में गूलर के पत्तों का उपयोग।
  17. पित्त रोगो में गूलर के पत्तों के फायदे।
  18. कमजोरी दूर करें गूलर का फल।
  19. जलन को दूर करें गुलर की पत्तियां के फायदे।
  20. दस्त में आराम गूलर की पत्तियां के उपयोग।
  21. हाथ- पैर फटने पर गुलर के तने के दूध के उपयोग।
  22. मुंह के छालों में गूलर की छाल का उपयोग।
  23. पेशाब की समस्या में गूलर फल का उपयोग।
  24. उल्टी होने पर गूलर फल के फायदे।
  25. ज्यादा प्यास लगने पर गूलर फल का उपयोग।
  26. कब्ज की समस्या को दूर करे गूलर की छाल।
  27. कैंसर के सेल्स को रोके गुलर का फल।
  28. ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में गूलर की छाल का उपयोग।
  29. गूलर के नुकसान।

गूलर फल का वैज्ञानिक नाम – Scientific Name of Gular Fruit in HInid.

गूलर फल का वैज्ञानिक नाम (Ficus Racemosa) फाइकस रेसमोसा है।

गुलर फल क्या है? – What Is Guler Fruit? Gular Ka Ped Kaisa Hota hai. 

गूलर का पेड़ कैसा होता है?   गूलर का पेड़ 20 से 30 फुट तक ऊंचा होता है या फिर इससे ज्यादा भी हो सकता है यह पेड़ टेढ़ा- मेढ़ा होता है गूलर का पेड़ सदाफल जंतुफल और हेमदुग्धक आदि नामों से जाना जाता है.  गूलर के पेड़ की छाल और जड़ भूरे कलर की होती है। गूलर का पेड़ लगभग पूरे भारतवर्ष में पाया जाता है यह पेड़ नदी नालों और जहां पर पानी की मात्रा अधिक पाई जाती है वहां पर यह पेड़ अधिक पाए जाते हैं गूलर का पेड़ विशाल होता है इसके पत्ते अंडाकार, गोल व छायादार होते है। गूलर की पैदावार :- गुलर की सबसे ज्यादा पैदावार भारत-ऑस्ट्रेलिया मलेशिया और चीन में की जाती है।

गूलर का फल कैसा होता है। Gular Fruit Kaisa Hota in HIndi.

गूलर के कच्चे फल हरे रंग के होते हैं और पक जाने पर पीले और लाल रंग के बन जाते हैं गूलर फल गोल होता हैं और यह   गुच्छो के रूप में पेड़ पर लगते हैं। इसके फल के अंदर छोटे-छोटे बीज निकलते हैं इसके फल  कई रोगों में लाभकारी होते हैं गुलर के फल के अंदर कीड़े पाए जाते हैं इसके फल के अंदर ही फूल होते हैं।

गूलर के पेड़ की पत्तियों को अगर तोड़ा जाए तो तोड़ने के उपरांत दूध निकलता है जो अनेक बीमारियों में फायदेमंद है गुलर के पेड़ पर अगर किसी भी जगह है कट किया जाए तो उस स्थान में से दूध निकलता है और जब यह दूध हवा के संपर्क में आता है तो थोड़ी देर के बाद पीला पड़ जाता है इस दूध का उपयोग दवाइयों में भी किया जाता है . Gular Fruit Khane Me अन्य फलों से थोड़ा कम मीठा होता है।

गुलर के औषधीय गुण – Medicinal Properties of Guler – Gular ke Oshdhiye Gun.

Gular fruit Ke Oshdhiye Gun In Hindi.

  1. * गूलर की छाल अत्यंत शीतल, गर्भहितकारी, कसैली, दुग्धवर्धक, वर्णविनाशक  लाभकारी  होती है।
  2. * पका फल  मूर्छा, मधुर, जड़, पित्त,  श्रम, प्रमेह शोक होते हैं।
  3. * गुलर बढ़ पीपल यह सब व्रण के लिए हितकारी, दाह, कफपित्त, अतिसार एवं योनी रोगों की समस्या को भी दूर करता है।
  4. * गूलर के कच्चे फल कसैले,  वात विकार, प्रदर, रुचिकर को दूर करते हैं।

विभिन्न भाषाओं में गूलर के नाम – Names of Sycamore In Different Languages

Alg- Alg Bhasha Me Gular Fruit Ke Name.

  • *हिंदी    –   गूलर
  • *तमिल –  अतिमरम
  • *फारसी  – अंजीरे आदमी
  • *पंजाबी  –  ददुरि
  • *गुजराती  – उम्बरो
  • *अंग्रेजी   –  क्लस्टर फिग
  • *संस्कृत    –  उदम्बर

गुलर में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Found In Gular – Gular Fruit Ke Poshk Tatv

Gular fal Ke Poshk Tatv in Hindi. गुलर में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है:

  1. * प्रोटीन
  2. * विटामिन B2
  3. * मैग्नीशियम
  4. * कैल्शियम
  5. * कोपर
  6. * पोटेशियम
  7. * आयरन
  8. * एंटी- इन्फ्लेमेटरी
  9. * एंटी-अल्सर
  10. * फास्फोरस
  11. * एंटीऑक्सीडेंट
  12. * एंटी- बायोटिक
  13. * एंटी- अस्थमेटिक

गुलर फल  की किस्में – Varieties of Gular Fruit in Hindi

गुलर की दो किस्में होती हैं: 1. कठूमर, 2. नदी उदुम्बर

गूलर के फायदे जाने हिंदी में – Gular Benefits And Side Effects In Hindi.

Gular Fruit Khane Ke Fayde In Hindi.

Gular Fruit Khane Ke Fayde Gun Labh or Nuksan In Hindi.

गूलर खाने के बहुत सारे फायदे हैं. गूलर का पेड़ एक ऐसा पेड़ जो कई बीमारी को खत्म करने में अपना योगदान देता है. गूलर पेड़ की जड़,फल,फूल,तना और दूध सभी उपयोग में लाए जाते है तो चलिए जानते हैं गुलर हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे पहुंचाता है। Gular Fruit Khane Ke और भी बहुत से लाभ है।

1. खूनी बवासीर में गूलर दूध के फायदे – Benefits of Gular Milk In Bloody Piles In Hindi. 

गुलर से निकलने वाले दूध की 10 से 15 बूंदे पानी में मिलाकर पी जाए तो खूनी बवासीर से जल्दी आराम मिलता है। गूलर के कच्चे फल की सब्जी भी बना कर खा सकते हैं यह भी खूनी बवासीर को ठीक करती है। और समय समय पर डॉक्टर की सलाह अवश्य ले। ताकि इस समस्या से निजात मिल सके।

2. दांतो को मजबूत बनाएं गुलर का काढ़ा – Strengthen Teeth Decoction of Gular In Hindi.

गूलर से बने काढ़ा का कुल्ला किया जाए तो दांतों के रोग खत्म होते हैं साथ ही दांतों में कैविटीज और कीड़ा लगने की संभावना नहीं होती इसके अलावा गुलर मसूड़ों को भी मजबूत करता है और उन्हें स्वस्थ रखता है इसका काढ़ा मुंह के हानिकारक कीटाणुओं को समाप्त कर देता है। जिससे हमारे दाँत स्वस्थ बने रहते है।

3. श्वेत प्रदर में गूलर फल का उपयोग – Use of Gular Fruit In Blennenteria In Hindi. 

गूलर के फलों से बना रस अगर नियमित मात्रा में पिया जाए तो श्वेत प्रदर  जैसे रोग से छुटकारा मिलता है या फिर आप इसके कच्चे फल का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं इससे भी सफेद प्रदर में आराम मिलता है इसके अलावा पका फल भी फायदेमंद होता है।

4. नींद न आने की समस्या में गुलर के उपयोग – Use of Guler In The Problem of Sleeplessness In Hindi. 

अगर आप अनिद्रा की समस्या से परेशान हैं तो आप गूलर का सेवन करना शुरू कर दें इससे आपको अच्छी नींद आने लगेगी बल्कि आपके स्ट्रेस, तनाव को भी कम करेगा। आजकल यह समस्या छोटे से लेकर बड़ों में आसानी से मिल जाती है। और काफी आम भी हो गयी है।

5. मासिक धर्म संबंधित समस्याओं में गूलर की छाल – Problems Related To Menstruation In Gular Bark In Hindi

जिन महिलाओं को पीरियड के दौरान अधिक रक्त स्त्राव होता है तो वे महिलाएं गूलर की छाल का काढ़ा बनाकर पिए तो अधिक रक्त स्त्राव का आना बंद हो जाता है। जिससे शरीर में कमजोरी  का अनुभव कम होता है।

6. मधुमेह में गूलर फल का उपयोग – Use of Gular Fruit In Diabetes In Hindi. 

गूलर में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक और एंटीअस्थमेटिक तत्व होते हैं यही तत्व डायबिटीज में बहुत फायदेमंद है। आजकल का खान पान बदल गया है जिससे के कारण आज हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से जरूर पीड़ित है। इन सब का एक ही इलाज है। प्रकति द्वारा दिए गए फलों व सब्जियों का हमे भरपूर सेवन करना चाहिए।

7. पिंपल्स की समस्या में गूलर के दूध का उपयोग -Use of Gular Milk In The Problem of Pimples In Hindi

गूलर का दूध अगर पिंपल्स पर लगाया जाए तो पिंपल्स जल्दी ठीक हो जाती है इससे ज्यादा पिंपल्स होने की संभावना कम हो जाती है और दर्द में भी राहत मिलती है। अक्सर गर्मियों में यह समस्या आम हो जाती है. अगर आप भी इस समस्या से ग्रसित है तो गूलर का सेवन अवश्य करे।

8. आंखों के उपचार में गूलर के पत्तों का उपयोग – Use of Gular Leaves In The Treatment of Eyes In Hindi. 

गूलर आंखों से संबंधित समस्याओं में भी लाभकारी है जैसे कि आंखों से पानी आना, कम दिखाई देना, आंखे लाल होना, आंखों में जलन होना आदि समस्याओं में गुलर बहुत फायदेमंद है गुलर के पत्तों का काढ़ा बना ले फिर इस काढ़े को किसी कपड़े की मदद से छान लें इस काढ़े की एक या दो बूंदे रोज सुबह- शाम आंखों में डाले ऐसा करने से आंखों से जुड़ी जितनी भी समस्याएं हैं सारी दूर हो जाएंगी और आंखों की रोशनी भी तेज बन जाएगी।

9. पित्त रोगों में गूलर के पत्तों के फायदे – Benefits of Gular Leaves In Gall Diseases In Hindi. 

जिन लोगों को पित्त संबंधी समस्याएं हैं तो  उन लोगों को गुलर के पत्तों से बना चूर्ण शहद में मिलाकर खाने से पित्त की समस्याओं से छुटकारा मिलता है। और हमे काफी अच्छा फील होता है। हमारे आस – पास पाए जाने वाले सभी पौधों का अपना महत्त्व है। इसलिए इन्हे नुकसान न पहुंचाए बल्कि इनकी देखभाल करे।

10. जलन को दूर करें गुल्लर की पत्तियां – Remove Irritation Leaves of Gular In Hindi. 

अगर आप किसी कारण के जल जाते है तो आग से जलने पर जलन होने लगती है इस जलन को दूर करने के लिए गुलर की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को जलन वाली जगह पर लगाएं इससे जलन खत्म हो जाती है। और आप काफी अच्छा महसूस करेगें।

11. दस्त में आराम गुलर की पत्तियां – Relaxation In Diarrhea Leaves Gular Hindi.

गूलर का पेड़ काफी लाभकारी है।  इसके पत्ते जड़, तना, व गुलर के फूल सभी का आयुर्वेद में उपयोग किया जाता है. दस्त में गूलर की कुछ पत्तियों को पीसकर पानी में मिला लें और इस पानी को छानकर पीएं इससे दस्त की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

12. हाथ- पैर की त्वचा फटने पर गूलर के तने का दूध – Gular Stem Milk When Skin of Hands And Feet In Hindi

अक्सर देखा जाता है की कुछ पुरषों व महिलाओं की त्वचा फ़टी – फ़टी  दिखाई देती है। यदि आपकी त्वचा फटती है और एड़ियां भी फटने लगी है तो आप गूलर के तने का दूध फटी जगह पर लगाइए ऐसा करने से फटी त्वचा जल्दी ठीक होने लगती है।

13. मुंह के छालों में गूलर की छाल का उपयोग – Usage of Gular Bark In Mouth Ulcers.

गूलर के पेड़ की छाल  के फायदे  भी बहुत है।  यदि आपके मुंह में छाले हो गए हैं तो आप गूलर की छाल का काढ़ा बनाकर मुंह में डाले और थोड़ी देर इसे अपने मुँह में रखें इससे मुंह के छालों में आराम मिलेगा। और धीरे धीरे छाले खत्म हो जाएंगे।

14. कमजोरी दूर करे गूलर का फल – Remove Weakness Results From Gular In Hindi. 

गूलर के सूखे  फलों का चूर्ण बनाकर खाने से शरीर की कमजोरी दूर होती है। साथ शरीर में शारीरिक ऊर्जा का विकास होता है। व गूलर हमारे इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है।

15. पेशाब की समस्या में गूलर फल का उपयोग -Use of Gular Fruit In Urination Problem In Hindi.

पेशाब से संबंधित समस्याओं में जैसे कि बार-बार पेशाब लगना, पेशाब करने के उपरांत जलन उत्पन्न होना आदि समस्याओं को दूर करने के लिए गूलर के पके फल का सेवन किया जाए तो पेशाब से संबंधित दिक्कतों से छुटकारा मिलता है। और आप स्वस्थ हो सकते है।

16. उल्टी होने पर गूलर फल के फायदे – Benefits of Gular Fruit When Vomiting In Hindi. 

उल्टी की समस्या होने पर और यदि उल्टी के साथ खून आता हो तो गुल्लर के सूखे फलों का चूर्ण बना लें और इस चूर्ण को दूध में मिलाकर दिन में कम से कम 2 बार पिए ऐसा करने से उल्टी में खून आने की प्रॉब्लम दूर हो जाती है। और आप स्वस्थ हो जाते है।

17. ज्यादा प्यास लगने पर गूलर फल का उपयोग – Use of Gular Fruit When More Thirsty In Hindi.

अगर किसी को ज्यादा प्यास लगती है।  तो वो समस्या भी गूलर ठीक कर देता है।  गूलर के कच्चे फलों को पीसकर पानी में मिला लें और फिर छलनी की सहायता से छान लें इस पानी को पीने से ज्यादा प्यास लगने की समस्या दूर हो जाती है।

18. कब्ज की समस्या को दूर करें गूलर की छाल – Remove Constipation Problem Bark of Gular In Hindi.

आज कल ज्यादा बीमारी पेट से शरू होती है। उनमे से एक कब्ज। कब्ज की बीमारी को खत्म करने के लिए   गूलर की छाल को सुखाकर इसका चूर्ण बना लें इस चूर्ण का सेवन करने से कब्ज और गैस की समस्या समाप्त हो जाती है।

19. कैंसर के सेल्स को रोके गुलर – Guler Stops Cancer Sales In Hindi- Cancer Ki Smsya ko Km Kare Gular Fruit.

इस बीमारी का प्रचलन काफी अधिक बढ़ गया है।  इसलिए हमे सावधान व खाने में फल व सब्जियों को अधिक महत्त्व देने की जरूरत है।  ताकि हम इस बीमारी से बच सके। गूलर के पेड़ से निकलने वाले रस का अगर रोज सेवन किया जाए तो कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोका जा सकता है।

20. ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में गूलर की छाल का उपयोग – Use of Gular Bark To Control Blood Sugar In Hindi.

गूलर की छाल का यदि काढ़ा बना कर दिया जाए तो ब्लड शुगर को कंट्रोल में किया जा सकता है इसके साथ ही हमारे शरीर के स्वास्थ्य को भी ठीक रखता है। अंत में हम यही कहेंगे की हमे ज्यादा से ज्यादा पेड़ व उनसे मिलने वाले औषधीय गुणों का लाभ उठाना चाहिए ताकि हम स्वस्थ रह सके।

गूलर खाने के नुकसान – Side Effect of Gular Tree Fruit In Hindi.

Gular Fruit Khane Ke Nuksan In Hindi.

जिस प्रकार गुलर हमारे शरीर को अनेकों फायदे देता है उसी प्रकार यदि Gular Fruit का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो हमारे शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है। Gular Fruit Khane Ke Nuksan Jane HIndi me.

  • * प्रेग्नेंट महिलाओं को गूलर के फल का सेवन नहीं करना चाहिए इसके सेवन करने से पहले अपनी नजदीकी डॉक्टर से जरूर परामर्श कर ले।
  • * अधिक मात्रा में गूलर के फलों का सेवन करने से आंतों में कीड़े ज्यादा उत्पन्न हो सकते हैं।
  • * गूलर का फल खाने से एलर्जी होती है तो उन लोगों को गूलर के फल नहीं खाने चाहिए।
  • * अगर आप किसी भी प्रकार की दवाई ले रहे है तो गूलर के फल का सेवन न करे।

नोट:-  हमारी यह वेबसाइट आपको किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह नही देता हैं. बताए गए घरेलू उपचारों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से सम्पर्क जरुर करे।

Subject :-

Gular fal khane ke Aushadhiy Gun | Gular Fruit Khane ke Labh | Gular Fruit Khane ke Nuksan | Gharelu Davayen me Gular ke upyog | Gular fal ke Aushadhiy Prayog | Gular Fal Khane ke Fayde | Peshab ki Samsya Me Gular Ke upyog. |Muh Ke Chalon Me Gular ki Chal Ka Upyog .|

निष्कर्ष:- 

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख (Gular Fruit Khane Ke Gun, Gular Ke Fayde In Hindi, Gular Ke Nuksan or Gular Ke Gharelu Nuskhe व Upyog) अच्छा लगा होगा।  हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और भी लेटेस्ट जानकारी के लिए बने रहे  superfast3education पर।

Read More :-

Please Share This
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *