पपीता फल के फायदे, नुकसान और औषधीय लाभ। पपीता के उपयोग व पत्तों के फायदे।

Please Share This

पोस्ट की सम्पूर्ण जानकारी।

सेहत के लिए पपीता फल कई बिमारियों का रामबाण इलाज –  Papita Khane Ke Fayde.

पपीता फल के फायदे व औषधीय लाभ | Best Papaya Fruits In Hindi |  Papaya Fruits Health Benefits in Hindi | Papita Khane ke Fayde or Nuksan.| पपीता खाने के फायदे | पपीता खाने के फायदे और नुकसान | पपीता खाने के नुकसान | पपीता के उपयोग | पपीता के पत्ते खाने के फायदे | पपीता की तासीर कैसी होती है।

पपीता हर मौसम में उपलब्ध रहता है। पपीता Papaya Health Benefits in Hindi  खाने में बहुत ही स्वादिष्ट फल लगता है। पपीता फल का पेड़ आप को लगभग सभी जगह आसानी से देखने को मिल जाएगा है। पपीता का फल औषधीय गुणों से भरपुर होता है। इसे खाने से कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है। पपीता के पत्ते, फल और फूल का उपयोग औषधी के रूप में प्रयोग किया जाता है। पपीते के फल को आप कच्चा व पक्का दोनों तरह से खा सकते है। पपीता का उपयोग कब्ज दूर करने में, वजन कम करने में, दस्त में, त्वचा को सुंदर बनाने में बहुत ही फायदेमंद है। आज हम आपको पपीते के फायदे, नुकसान और औषधीय लाभ व पपीते से संबंधित कुछ अन्य जानकारी भी अपने इस आर्टिकल के माध्यम से देंगे। तो चलिए शुरु करते है।

पपीता का पेड़ कैसा होता है? What is Papaya Tree like In Hindi.

पपीता एक उष्ण कटिबन्धीय फल है। पपीता का पेड़ आमतौर आपको घर या बगीचों में देखने को मिले जाएगा। जो की पपीता कैरिकेसी कुल का ही अंग है। पपीते के पेड़ की लम्बाई लगभग 8 Feet से लेकर  12 Feet तक होती है। पपीता (Papaya) के पत्ते बड़े आकर के और चिकने व हरे रंग के होते है। पपीता के पत्ते नुकीले टाइप के और लम्बे एवं बीच -बीच में कटे होते है। जैसे जैसे पेड़ की लम्बाई बढ़ती जाती है। वैसे ही पपीते के पत्ते गिरते जाते है। केवल ऊपर वाले हिस्से पर ही पत्ते रहते है। जहां पर फल लगते है।

पपीते के पेड़ कितने तरह के होते है?

पपीते के पेड़ तीन तरह के होते है। नर और मादा दोनों तरह के पपीता के पेड़ अलग -अलग होते है। नर पपीता के पेड़ पर आने फूल का साईज बड़ा होता है जबकि मादा पेड़ पर आने वाले फूल का साइज छोटा रहता है। पपीते के नर पेड़ पर फल नहीं लगते है। इसके अतिरिक्त पपीते का तीसरा पौधा उभयलिंगी होता है। पपीते के पेड़ की लकड़ी ठोस नहीं होती। पपीते के पेड़ का तना हरे और भूरे रंग का होता  है तथा यह पेड़ सीधा होता है।

पपीता का फल दिखने में कैसा होता है? What does Papaya fruit look like?

पपीता (Papita) का फल में लम्बा व गोलाकार होता है। दिखने में यह वॉटर मेलन के आकार का होता है। पपीते का फल पेड़ के ऊपरी हिस्से में पत्तों के निचे लगते है। ताकि फल सुरक्षित रहे। पपीते के पेड़ पर सबसे पहले ऊपरी हिस्से में पत्तों के निचे सफ़ेद रंग के फूल आते है। इसके बाद फल बनने शुरू होते है। पपीते का फल जब कच्चा होता है तो यह हरे रंग का होता है। और पक जाने पर पिले रंग का हो जाता है। इसका गुदा खरबूजे की तरह होता है। जिसके अंदर सैकड़ों छोटे छोटे काले रंग के चिकने बीज होते है। परन्तु अब बाजार में बिना बीज वाला पपीता भी आने लग गया है। कच्चा पपीता खाने में कड़वा लगता है और पका हुआ पपीता खाने में मीठा एवं स्वादिष्ट लगता है।

पपीता में पाए जाने वाले पोषक तत्व :- Nutrients found in Papaya Fruit in Hindi.

पपीता (Papaya) खाने से हमारे शरीर को बहुत सारे पोषक तत्व मिलते है जिससे बहुत -सी बीमारियां दूर होती है तो चलिए जानते है पपीता में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते है:- जो की इस पक्रार है। :- पपीते में कैल्शियम,  आयरन,  मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटैशियम, सोडियम, जिंक, मैंगनीज, कॉपर, सेलेनियम, विटामिन सी, व इसके अतिरिकत पपीते में थायमिन,  राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन-बी 6, फोलेट, कोलीन, विटामिन-ए, बीटा कैरोटिन, विटामिन-ए IU, विटामिन-के, आदि पोषक तत्व भरभूर मात्रा में पाए जाते है।

पपीता का इंग्लिश में क्या नाम है? – What is the name of Papaya in English.

पपीता को अंग्रेजी में ट्री-मेलन (Tree-melon) व Papaya कहते है।

पपीता का वैज्ञानिक नाम क्या है? – What is the Scientific Name of Papaya.

पपीता का वैज्ञानिक नाम कॉरिका पपाया (Corica papaya) है।- PapayaScientific name: Carica papaya. जो की  कैरिकेसी परिवार से संबंध रखता है।

पपीते की तासीर कैसे होती है ?

पपीता (Papaya) गर्म प्रवृति का होता है इसलिए बढ़ते कोरोनाकाल में पपीता को लाभकारी बताया है।

भारत में पपीता की खेती कहा-कहा की जाती है? – Where is the Cultivation of Papaya done?

भारत में पपीते की पैदावार बिहार, असम, हरियाणा, गुजरात, पंजाब, उत्तरप्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली, आन्ध्रप्रदेश, मिजोरम, जम्मू एवं कश्मीर, उत्तरांचल, आदि राज्यों में पपीता की खेती की जाती है। भारत के अलावा दूसरे देशों में पपीता की खेती पेरू, हवाई ताइवान, गोल्ड कोस्ट, पाकिस्तान और फ्लोरिडा में भी पपीता (Papaya) की खेती की जाती है।

अन्य भाषाओँ में पपीता के नाम – Names of Papaya in other languages.

फल कोई भी हो उसको अलग अलग भाषा में अलग -अलग नामों से जाना जाता है तो आईये जानते है भारत के किन -किन हिस्सों में पपीता (Papita) को अलग -अलग नामों से जानते है :-

  • Bengali भाषा में  – पापैया और पपेया कहते है।
  • Nepali भाषा में – मेवा।
  • Panjabi भाषा में – एरण्डखर्बूजा।
  • Marathi भाषा में – पपाया।
  • Malayalam भाषा में – कप्पलम।
  • English भाषा में – ट्री-मेलन।
  • फारसी भाषा में – अम्बाहिन्दी।
  • Sanskrit भाषा में – एरण्ड कर्कटी।
  • Hindi भाषा में – पपीता।
  • Gujrati भाषा में – पपाई , चिबड़ा।
  • Telugu भाषा में – बोप्पयी, मधुरनकमु

पपीता के औषधीय गुण व लाभ –  Medicinal Properties of Papaya In Hindi.

पपीता (Papaya) का उपयोग औषधीय रूप में भी किया जाता है। पपीता के पत्ते का उपयोग बुखार के कारण शरीर में प्लेटलेट्स कम हो जाने पर प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए किया जाता है क्योकि पपीते में अल्कलॉइड, पेपैन जैसे पोषक तत्व मौजूद होते है जो शरीर में प्लेटलेट्स को बढ़ाने का कार्य करते है। पपीता के पत्ते, फल, जड़, तना, बीज सभी औषधी के रूप में प्रयोग किये जाते है। पपीता के पेड़ की जड़ का इस्तेमाल पथरी को गलाने में भी किया जाता है। पैरों में छाले होने पर कच्चे पपीते के रस का इस्तमाल पैरों में छाले हो जाने पर किया जाए तो छाले जल्दी ठीक हो जाते है। कच्चे पपीते के सेवन से पेट से जुड़ी लगभग सारी समस्याओं दूर हो जाती है।

पपीता खाने के फायदे – Papaya fruit Health Benefits And Side Effects In Hindi.

बाजार में कई तरह के फल मिलते है और उनमे कई तरह के पौष्टिक तत्व होते है इसलिए इन सभी फलो का सेवन जरूर करना चाहिए। पपीता (Papita) के बहुत सारे फायदे है। पपीते के फल, फूल, जड़, तना, पत्ते और बीज सभी का उपयोग औषधीय रूप में किया जाता है। पपीता खाने में मीठा, रसदार एवं स्वादिष्ट होता है। पूरी तरह से विकसित कच्चे पपीते से निकलने वाले दूध से पपेन तैयार कीया जाता है। तो आइये जानते है पपीता के फायदों के बारे में:-

इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करे पपीता फल के फायदे – Papaya Strengthens the immunity system.

पपीता खाने के कई लाभ है। पपीता खाने से रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है। क्योकि पपीते के अंदर लगभग वे सभी पोषक तत्व होते मौजूद होते है। जिनकी हमे जरूत होती है। पपीता हमारे शरीर में होने वाली विटामिन सी की कमी को भी पूरा करता है यदि पपीते का प्रतिदिन सेवन किया जाये तो आप बहुत सी बीमार से छुटकारा पा सकते है।

महिलाओं को पीरियड्स में होने वाले दर्द से निजात दिलाएं पपीता का सेवन। 

बहुत सारी महिलाओं को पीरियड्स में दर्द होने की समस्या रहती है। अगर इस दौरान पपीता (Papaya) का सेवन किया जाये तो दर्द में लाभ पहुँचता है और शरीर की कमजोरी भी दूर हो जाती है। इसके लिए आप पपीते के पत्ते, इमली व नमक को पानी में उबालकर इसे ठंडा कर पि सकते है। इसको पिने से आपको बहुत ही जल्दी आराम मिल जाता है।

कब्ज से राहत दिलाएं पपीता फल के फायदे – Benefits of Papaya Fruit to Relieve Constipation In Hindi.

पपीता (Papita) पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर कुछ दिन सुबह खाली पेट पपीते का सेवन नियमित तौर पर किया जाये तो पुराने से पुराना कब्ज ठीक हो जाता है। और हमारी पाचन प्रणाली सुचारु रूप से कार्य करना शुरू कर देती है। क्योकि पपीते के अंदर विटामिन सी विटामिन ई और बीटा कैरोटिन जैसे तत्व पाए जाते है जो कब्ज से राहत दिलाते है। और इससे ब्लड शुगर भी कंट्रोल में रहेगा।

आखों को स्वस्थ रखे पपीता खाने के लाभ। – Benefits of Eating Papaya to Keep Eyes Healthy in Hindi.

पपीता आखों से सबंधित समस्या को दूर करने में हमारी मदद करता है। पपीता आखों की रोशनी तेज करता है। क्योकि पपीते के अंदर विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहता है। इसके आलावा पपीते के अंदर कैरोटिनॉइड ल्यूटिन होता है जो आँखों को ब्लू रौशनी से बचाता है। और हमारी आखों को साफ- सुथरा और स्वस्थ रखता है।

बढ़ते वजन को कम करे पपीता फल के फायदे। – Benefits of Papaya Fruit to Reduce Weight in Hindi.

अगर आप अपना वजन कम करना चाहते है तो रोज सुबह डाइट के रूप में पपीता (Papaya) का सेवन करें।  पपीता कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित में रखता है। जिससे बढ़ते हुए वजन को कम किया जा सकता है। वैसे आपको बतादूँ की पपीते का बीज भी वजन घटाने में काफी सहायक होता है। क्योकि पपीते के बीज शरीर में मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करतें है।

दांतो के दर्द से दिलाये निजात पपीता के औषधीय गुण। – Medicinal Properties of Papaya to Get Relief from Toothache in Hindi.

दांतो के लिए कच्चा पपीता काफी फायदेमंद होता है क्योंकि कच्चे पपीते से निकलने वाले दूध का इस्तेमाल दांतो में होने वाले दर्द की समस्या से निजात दिलाता है। पपीता के दूध को दांतो की दर्द वाली जगह पर लगाए। ऐसा नियमित रूप से करें कुछ ही दिनों में दांतो के दर्द में आराम मिल जाएगा।

चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाये पपीता के फायदे। – Benefits of Papaya to Enhance the Beauty of the face in Hindi.

पपीता (Papaya) खाने से चेहरे की खूबसूरती में चार चाँद लग जाते है। पपीता चेहरे पर होने वाली झुर्रियों, पिंपल्स, दाग -धब्बे को को दूर करता है। इसके साथ ही पपीता चेहरे पर पड़ने वाले उम्र के प्रभाव को भी कम करता है और चेहरे की चमक को बनाये रखता है। पपीता डार्क सर्कल को भी दूर करता है। मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए कच्चे पपीते को चेहरे पर 10 से 15 मिनट लगाएं और फिर इसे अच्छी तरह साफ पानी से धो लें।

बालों की रूसी और डैंड्रफ को कम करे पपीता के फायदे। – Benefits of Papaya to Reduce Hair Dandruff in Hindi.

पपीता बालों की रूसी और डैंड्रफ को दूर करने में हमारी भरपूर मदद करता है। रूसी होने पर बाल खराब दिखने लग जाते है। डैंड्रफ होने पर बालों में खुजली की समस्या हो जाती है। इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए पपीता को काफी फायदेमंद माना गया है। क्योकि पपीते में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते है। पपीता हमारे बालों की चमक को बढ़ाता है। और उन्हें मजबूत भी बनाता है डैंड्रफ को दूर करने के लिए पपीते के रस को बालों में लगाने से डैंड्रफ की समस्या दूर हो जाती है।

Papite Ke Patte Ke Fayde – पपीते की पत्तियों के फायदे।

पपीता के पत्ते के जूस के फायदे

  1. पपीते के पत्तों का रस निकालकर पिने से इम्यूनिटी बढ़ती है और हमारे रक्त में मौजूद सफेद रक्त कणिका व प्लेटलेट्स की संख्या भी बढ़ जाती है।
  2. सर्दी या जुखाम हो जाने पर पपीते के पत्तों का रस या फिर काढ़ा काफी कारगर होता है क्योकि पपीते की तासीर गर्म होती है।
  3. पपीते के पत्तों का सेवन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी में भी काफी लाभ दायक होता है।
  4. पपीते के पत्तों का जूस का सेवन करने से ब्लड में शुगर की मात्रा कम हो जाती है। जिससे डायबिटीज जैसी बीमारी से बचा जा सकता है।
  5. पपीते के पत्तों से बनी चाय या काढ़ा पिने से पेट संबंधी सभी बीमारी ठीक हो जाती।
  6. पपीते के पेड़ की जड़ को पानी के साथ मिलाकर पीस कर एक काढ़ा बना ले अब इसे काढ़े को प्रतिदिन सुबह एक चम्मच सेवन करने से पथरी गल कर बहार निकाल आती है। ऐसा केवल 21 दिनों तक करें।
  7. डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारी में भी पपीते के पतियों का सेवन किया जाए तो यह जल्द ठीक हो जाती है।

पपीता फल खाने के तरिके व अन्य उपयोग। – Use of Papaya Fruit in in Hindi – Papita fruit Khane ke Fayde Hindi Me. 

पपीता अपने अलग स्वाद की वजह से जाना जाता है। पपीता(Papaya) का उपयोग आप अन्य प्रकार से भी कर सकते है किस प्रकार से कर सकते है इसका वर्णनं इस प्रकार है:-

  1. आप पपीता का शेक बनाकर पी सकते है।
  2. पपीता का छिलका उतार कर उसे छोटे -छोटे टुकड़ो में काटकर खा सकते है।
  3. कच्चे पपीता की सब्जी व सब्जी बनाकर खा सकते है।
  4. कच्चे पपीता के दूध से  पपेन तैयार की जाती है।
  5. कच्चे पपीते के कोफ्ते या फिर पकोड़े भी बनाकर खाए जा सकते है।
  6. आप कच्चे पपीते का पराठा भी बनाकर खा सकते है।
  7. इसके आलावा पपीते की चिप्स बनाकर भी खाई जा सकती है।
  8. कच्चे पपीते से आप क्रिस्पी फ्रेंच फ्राइज बनाकर भी खा सकते है।
  9. पपीते से हलवा बनाकर भी खाया जा सकता है।
  10. पपीते का आप जूस ( पपीता शेक ) भी बनाकर पि सकते है।

पपीता खाने के नुकसान। (Papaya fruit side Effect In Hindi) – Papita fruit Khane Ke Nuksan.

पपीता खाने के फायदे Papita khane ke fayde है तो नुकसान भी है। किसी भी फल को जरूरत से ज्यादा खाया जाये तो वह नुकसान ही पहुंचाएगा। इसलिए हम आपको पपीता खाने से होने वाले नुकसानों के बारे में जानकारी देंगे।

  1. गर्भावस्था में पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि पपीता शिशु को नुकसान पहुंचा सकता है। पपीता गर्म प्रवृति का होता है जो गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद नहीं है।
  2. जिन लोगों को  पपीता खाने से एलर्जी होने की शिकायत होती है तो उन लोगों को पपीता  नहीं खाना चाहिए।
  3. अत्यधिक पपीते का सेवन करने से श्वास संबंधी बीमारी जैसे दमा और सीने पर दबाव आदि हो सकती है।
  4. बहुत ज़्यादा पपीते सेवन ब्लड में शुगर की मात्रा को भी कम कर देता। इसलिए ऐसे व्यक्ति इसका सेवन न करे जिसके ब्लड में शुगर की मात्रा तय मानक से कम हो वरना पपीता शुगर की मात्रा को और कम कर देगा।
  5. अगर आप किसी बीमारी से ग्रस्त है। और आप दवा का उपयोग कर रहें है तो ऐसी स्थति में अपने डॉक्टर से विचार विमर्श करके ही पपीते का सेवन करना चाहिए।

नोट : – यह वेबसाइट चिकित्सा सलाह नही देता हैं इन घरेलू नुस्खों या उपचारों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने नजदीक डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से हमे जरूर परामर्श करना चाहिए।

सब्जेक्ट:-

 Papaya fruit Health Benefits In Hindi. | Papita fruit Khane Ke Fayde. | पपीता फल का जूस | सेहत के लिए पपीता फल खाने के गुण फायदे और नुकसान। | Papaya fruit in hindi | Papaya fruit Khane ke Nuksan.| Papaya fruit Health Benefits In Hindi.| Papaya fruit Health Benefits And Side Effects In Hindi. | 

निष्कर्ष:-

दोस्तों आज की हमारी पोस्ट ( पपीता फल  के फायदे, Papita Fruit Khane Ke Gun, Papaya fruit Ke Fayde In Hindi)  आपको अच्छी लगी तो हमे Comment करके जरूर बताए। और ऐसी ही नई इंट्रेस्टिंग जानकारी के लिए हमारी Website को को फॉलो जरुर करे।

पपीते के फायदे, नुकसान और पपीते की पत्तियों के उपयोग व फायदे। – पपीते की पत्तियों का जूस पीने के फायदे।
Read More :-
Please Share This
Previous Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *