भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत। Bharat Me Computer Ka Aagman Kab Hua.

Please Share This

कंप्यूटर युग की शुरुआत

भारत में कंप्यूटर का विकास – Development of Computers in India.

भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत और इतिहास | Bhart Me Computer yug ka Armbh | Bhart Me Computer yug Ka Vikas |  Bhart me Computer Ki History |

 नमस्कार दोस्तों आज हम फिर हाजिर है एक नई जानकारी के साथ कंप्यूटर युग की शुरुआत भारत में . जैसा की आप को पता है।  Computer का हमारे जीवन में उपयोग इतना अधिक बढ़ गया है की इसके बिना हमारे कोई भी काम सम्पूर्ण नहीं हो सकते है.

क्या अपने सोचा कंप्यूटर युग की शुरुआत भारत में कब व कैसे हुआ। साथ ही भारत में कंप्यूटर का इतिहास व विकास कैसे हुआ?.  क्योकि भारत में टेक्नोलॉजी पुरानी होने के बाद आती है। आज हम आप लोगो को भारत में Computer के इतिहास के बारे में बतायगे। जो कई बार कॉम्पिटशन एग्जाम में भी पूछा जाता है।

भारत में पहला कंप्यूटर कहा लाया गया। भारत में कंप्यूटर का इतिहास इसके साथ साथ आपको  (Computer सॉफ्टवेयर क्या होता है. तो चलिए शुरू करते है. कंप्यूटर युग की शुरुआत भारत में कैसे हुई।

भारत में लाए गए पहले कंप्यूटर का नाम व सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में। भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत कैसे हुई। 

दोस्तों भारत में पहला कंप्यूटर  सन 1952  में (Indian Statistical Institute) भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकत्ता में स्थापित किया गया। और यह ISI में इस्तमाल किया जाने वाला पहला भारतीय एनालॉग कंप्यूटर था जो  Dr.Dwijish Dutta के नियंत्रण में था।

साथ ही यह कंप्यूटर 10 X 10 की मैट्रिक्स को हल करने में सक्षम था जिसका उपयोग केवल वैज्ञानिक तौर पर किया जाता है. इसी समय बेंगलूर में स्थित भारतीय विज्ञानं संसथान में भी एक एनालॉग कंप्यूटर स्थापित किया गया।

Bharat Mein Computer Kab Aaya | Bharat Mein Pehla Computer Kaha Lagaya Gaya Tha |

भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत और विकास कैसे हुआ। 

लेकिन real में भारत में कंप्यूटर की शरुआत 1956 से मानी जाती है। जब Indian Statistical Institute कोलकत्ता में भारत का पहला इलेक्ट्रोनिक डिजिटल कंप्यूटर HEC – 2M को स्थापित किया गया। (या लगाया गया ) जिसकी कीमत 10 लाख रूपये के लगभग थी।

इस कंप्यूटर की खास बात यह थी की इसकी स्थापना के बाद भारत विश्व में जापान के बाद एशिया का ऐसा दूसरा देश बन गया था जिसनें कंप्यूटर की तकनीकी ( TECHNOLOGY) को सबसे पहले अपनाया था।

HEC – 2M  कंप्यूटर में इनपुट और आउटपुट के लिए  पंचकार्ड का उपयोग किया गया था जिसमे बाद में प्रिंटर को भी जोड़ दिया गया था HEC – 2M कंप्यूटर को इंग्लैंड में बनाया गया था। Andrew Donald booth ने बनाया था।

Bhart में लगाए गए Computer का नाम और उसकी जानकारी हिंदी में। 

Bharat Me Computer Ka Itihas Or Avishkar Kaise Hua

इसके बाद  फिर भारत में  “URL” कंप्यूटर सन 1958 में रूस से खरीदा गया था  “URL” को भी भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में स्थापित किया गया था यह  “URL” कंप्यूटर  HEC – 2M  कंप्यूटर से काफी बड़ा था और भारत में  कंप्यूटर के विकास आगे बढ़ाते हुए।  सन 1964 में  HEC – 2 M  कंप्यूटर और “URL” कंप्यूटर का उपयोग करना बंद कर दिया गया।

HEC – 2 M  कंप्यूटर और “URL” कंप्यूटर इन दोनों कंप्यूटर को इसलिए बंद कर दिया गया था क्योकि उसी समय IBM ने अपना प्रथम  कंप्यूटर 1401 का निर्माण करके उसे  भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में स्थापित किया।

यह 1401 कंप्यूटर IBM 1400 सीरीज का FIRST COMPUTER था जो की डाटा प्रोसेसिंग सिस्टम पर आधारित कंप्यूटर था  जिसका निर्माण  IBM  ने  सन 1959 में किया था। यह 1401 कंप्यूटर एक मिनट में 193300 योग की गणना करने में सक्षम था। इन सभी कंप्यूटर को भारत में आयात किया गया था सबसे पहला Laptop

भारत का पहला कंप्यूटर कब बना – When did India’s first computer become in Hindi.

दोस्तों भारत में पहले कंप्यूटर का निर्माण दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान (Indian Statistical Institute) तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता (Jadavpur University) ने आपस में मिलकर भारत के अंदर ही बनाया गया था भारत के इस पहले कंप्यूटर का नाम “ISIJU” रखा गया था। HEC – 2 M  कंप्यूटर और “URL” कंप्यूटर वैक्यूम ट्यूब पर आधारित कंप्यूटर थे परन्तु “ISIJU” कंप्यूटर ट्रांजिस्टर से बना हुआ था।

भारत में सबसे पहले SUPER COMPUTER का निर्माण कब व किसके द्वारा किया गया।  

भारत में बना सबसे पहला सुपर कंप्यूटर  ‘ परम 8000 ‘ था जिसे सन 1991 में Centre for Development of Advanced Computing के द्वारा  बनाया गया जिसमे  Architect Dr. Vijay P. Bhatkar. का काफी योगदान रहा है। ‘

परम 8000 ‘ का फुल फॉर्म या अर्थ parallel machine जिसका उपयोग  मौसम विज्ञान और रसायन शास्त्र के क्षेत्र के साथ बायोइन्फ़ोर्मेटिक्स में भी किया जाता था। और फिर सन 1998 में ” PARAM 10000″ का निर्माण किया गया इसमें भी  Architect Dr. Vijay P. Bhatkar. का काफी योगदान रहा।

भारत में पहला कंप्यूटर कब और कहा लगाया गया ?

HEC – 2M कंप्यूटर को सबसे पहले भारत में सन 1956 में भारतीय सांख्यिकी संस्थान (Indian Statistical Institute) कोलकत्ता में लगाया गया।

भारत में सबसे पहले स्वदेशी कंप्यूटर का अविष्कार कब हुआ? 

सन 1966 में  “ISIJU” कंप्यूटर का अविष्कार Indian Statistical Institute तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी ने किया।

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कोनसा है ? 

भारत का पहला Super Computer ‘PARAM 8000” था

भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत कब हुई?

भारत में कंप्यूटर की शरुआत 1956 से मानी जाती है। जब Indian Statistical Institute कोलकत्ता में भारत का पहला इलेक्ट्रोनिक डिजिटल कंप्यूटर HEC – 2M को स्थापित किया गया। जो की यह कंप्यूटर 10 X 10 की मैट्रिक्स को हल करने में सक्षम था।

भारत का पहला कंप्यूटर कब और किसने बनाया?

भारत में पहले कंप्यूटर का निर्माण दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान (Indian Statistical Institute) तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता (Jadavpur University) ने आपस में मिलकर सन 1966 में भारत के अन्दर पहला कंप्यूटर बनाया जिसका नाम ISIJU रखा गया था

भारत का सुपर कंप्यूटर कौन सा है?

भारत में बना सबसे पहला सुपर कंप्यूटर  ‘ परम 8000 ‘ था जिसे सन 1991 में Centre for Development of Advanced Computing के द्वारा  बनाया गया जिसमे  Architect Dr. Vijay P. Bhatkar. का काफी योगदान रहा है। जिसकी फुल फॉर्म या अर्थ parallel machine है। परम शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है।

 निष्कर्ष:-

दोस्तों मुझे पूरा विशवास है की आज की हमारी पोस्ट आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों को सिखाने के लिए इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले। अगर अब भी कुछ कमी है। तो हमे Comment करके जरूर बताए। (कंप्यूटर का अविष्कार ) और ऐसी ही नई जानकारी लेने के लिए हमारी WEBSITE को सब्सक्राइब जरुर करे. Use of computer.

Read More:-

Please Share This
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *