कंप्यूटर की विशेषता क्या होती है। कंप्यूटर की कार्य प्रणाली और कंप्यूटर की विशेषता।

Please Share This

कंप्यूटर की विशेषता क्या

कंप्यूटर की विशेषता क्या है और कंप्यूटर किस प्रणाली पर काम  करता है। 

What is the specialty of computer and Work in Hindi | Computer Ke Kary or Computer Ki Visheshta. Computer Ki Kary Parnali Hindi Me | 

नमस्कार दोस्तों आज आपका फिर स्वागत है हमारी वेबसाइट पर आज हम आपको कंप्यूटर कैसे काम करता है। तथा Computer की विशेषता होती है। के बारे में बताने जा रहे है।  जैसा की आप सभी को पता है कंप्यूटर का अपना दिमाख नहीं होता है।

कंप्यूटर मानव द्वारा दिए गए आदेशों के अनुरूप कार्य करता है। अगर आप भी कंप्यूटर में दिलचस्पी रखते है तो आपको कंप्यूटर क्या है।, कंप्यूटर का इतिहास, कंप्यूटर फुल फॉर्म व कंप्यूटर के उपयोग के  बारे में पता होना बहुत जरूरी है। आज सभी वो वस्तु जो बिजली की सहायता से चलती है। कही न कही कंप्यूटर का ही एक रूप है।  तो चलिए दोस्तों शरू करते है।

कंप्यूटर के कार्य करने का  तरीका – How the Computer Works in Hindi.

कंप्यूटर  में संग्रहित (Store) निर्देशों को विश्लेषित (Process) करके सुचना (Information) को प्रदर्शित  या  (Output ) करता है। कंप्यूटर से काम लेने के लिए System Software या Operating System का बहुत बढ़ा योगदान है।

कंप्यूटर के कार्य करने की प्रणाली – Computer Work System IN Hindi.

1. Input :-

यह  डाटा को अपने अंदर Input के रूप में ग्रहण करने में सक्षम है। यह किसी भी प्रकार का हो सकता है जैसे गेम, मूवी, इमेज या कोई फाइल भी हो सकती है। डाटा इनपुट के साधन जैसे :- Keyboard, Mouse, Scanner, Microphone, Web Camera, Bar Code Reader.

2. Storage:- 

यह डाटा तथा हमारे द्वारा इनपुट की गयी सुचना को (Memory ) मेमोरी में स्टोर कर उसे याद रखता है.  (Recall) करता है।

3. Process:- 

हमारे द्वारा दिए गए संकेत या आदेश के अनुसार डाटा को प्रोसेस अर्थात डाटा को Computer की स्टोरेज से  सर्च करता है  हमे दिखाने के लिए   है।

4. Output :- 

इसमें कंप्यूटर प्रोसेस की हुइट सुचना को Output के रूप में हमारे सामने प्रदर्शित करता है। जैसे पेज प्रिंट के रूप में, मॉनिटर पर, ऑडियो  के रूप में

5. Controlling:-

यह   Input,Storage, Process, Output के द्वारा किये गए कार्यो को Manage करता है।

Computer के कार्य करने की  विशेषताएँ – Computer Working Characteristics in Hindi.

1 . High Speed (तेज गति)-

कंप्यूटर के काम करने की गति को माइक्रो सेकेंड  ( Micro Second), नैनोसेकेंड (Nano Second), पिको सेकेंड (Pico Second)  में कंप्यूटर की गति को मापा जाता है. यह कंप्यूटर की विशेषता बहुत ही लोकप्रिय है।

कंप्यूटर की स्पीड या गति का अनुमान हम इस प्रकार लगा सकते है  एक शक्तिशाली कंप्यूटर दो 18 अंको  की संख्या को जोड़ने में 300 से 400 नैनोसेकेंड लेता है मतलब यह है की कंप्यूटर प्रति सेकेंड में 3 अरब गणना करने में सक्षम है।

कंप्यूटर के कार्य करने की क्षमता  को Megahertz (Mhz) व Gigahertz (Ghz) में भी Measurement किया जाता है।

2. Accuracy (शुद्धता)-

Computer Processing (विश्लेषण) करने में गलती नहीं करते है आज  का कंप्यूटर इतना फ़ास्ट हो गया है की यह  दशमलव के बाद 8 या हिस्से अधिक अंकों की गणना के सही मूल्यांकन  कर सकता है। कंप्यूटर स्वयं कभी कोई गलती नहीं करता है. जो की कंप्यूटर की विशेषता है। वह केवल हमारे दिए निर्देशों पर ही कार्य करता है।

3. Storage (संग्रहण)-

कंप्यूटर में हम सेकेंडरी मेमोरी (Secondary Memory) Cd-Rom, Hard Disk, Floppy Disk, Pan Drive  आदि अन्य नए उपकरणों  का इस्तमाल करके अपने निर्देशों और Data को कंप्यूटर  में संग्रहण करके हम उन्हें अपनी मर्जी के अनुसार देख सकते है। कंप्यूटर की स्टोरेज क्षमता को Kilobyte (Kb), Megabyte (Mb), Gigabyte (Gb), And Terabyte (Tb) में Measurement किया जाता है।

4 .Reliability ( विश्वसनीयता )- 

आजकल कंप्यूटर पर सभी काम होने की वजह से कंप्यूटर की विशेषता पर सभी का विश्वास बहुत बढ़ गया है दूसरा इसमें इनपुट डाटा के भंडारण की क्षमता तथा डाटा के आउटपुट  परिणाम प्राप्त करने के कारण यह काफी लोकप्रिय हो गया है एक Microprocessor की उम्र लगभग 40 वर्ष  होती है।

5 .Versatility (विविधता ) – कंप्यूटर की विशेषता। 

आज कंप्यूटर का उपयोग इतना अधिक हो गया है की आज कोई भी काम कंप्यूटर के बिना सम्भव नहीं है इसका मुख्य कारण यह की कंप्यूटर कई  प्रकार के कार्यों को एक साथ एक समय में पूरा करने में निपुण होते है। उदाहरण:- कंप्यूटर में हम एक समय पर कठिन वैज्ञानिक समस्या का निवारण कर सकते है तो वही दूसरी तरफ लूडो गेम या ऑडियो सुन सकते है।

6 . Automation (स्वचालन) – कंप्यूटर की विशेषता। 

यदि मानव द्वारा एक बार कंप्यूटर में प्रोग्राम और निर्देश कंप्यूटर में इनपुट कर दिए जाए तो कंप्यूटर के कार्य करने में मानव का हस्तक्षेप ना के बराबर हो जाता है. इसका सीधा सा  उदाहरण:- प्रिंटर होता है।  अगर कंप्यूटर में 100 पेज प्रिंट करने का निर्देश ( Command) Input कर दिया जाए तो जब तक 100 पेज प्रिंट न हो तब कंप्यूटर प्रिंट करता रहता है।

7. Diligence (परिश्रमी) – कंप्यूटर की विशेषता। 

आज कंप्यूटर इतना परिश्रमी हो गया है की मानव से भी ज्यादा काम करने में सक्षम हो गया है यदि कंप्यूटर को 100 अरब कार्य करने के निर्देश दे दिए जाए।

तो यह उन सभी निर्देशों की पालना बिना थके तब तक करता रहेगा जब तक हमारे द्वारा दिए गए 100 अरब निर्देश खत्म न हो जाए और यह उन सभी निर्देशों पर बिना कोई गलती किए कार्य पूरी Accuracy से करता है.

8. Reducation In Paper Work (कागजी कार्यों में कमी) – कंप्यूटर की विशेषता। 

कंप्यूटर को दिए गए निर्देश के अनुरूप कार्य करने के कारण कागजी कार्य में काफी कमी आई  है इसका सीधा सा उदाहरण:- Online Form ,Mathematics गणना।

किसी भी डाटा को कागजों में  सेव करने की बजाय कंप्यूटर में सेव कर लिए जाते है जिसको हम अपने काम के हिसाब से प्रिंट करवा सकते है। इसके प्रयोग से हमारे काम करने की गति को भी बढ़ावा मिला है।

निष्कर्ष:- 

दोस्तों मुझे पूरा विशवास है की आज की हमारी पोस्ट ( कंप्यूटर की विशेषता व कंप्यूटर के कार्य करने का तरीका ) बहुत ही अच्छी लगी होगी। आपको समझ में आ रही होगी।  और आज आपने बहुत कुछ सिखा है तो अपने दोस्तों को सिखाने के लिए इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले। अगर अब भी कुछ कमी है। तो हमे Comment करके जरूर बताए।और ऐसी ही नई जानकारी लेने के लिए हमारी WEBSITE को सब्सक्राइब जरुर करे.

धन्यवाद।

Read More:-

Please Share This
Previous Article
Next Article

3 Replies to “कंप्यूटर की विशेषता क्या होती है। कंप्यूटर की कार्य प्रणाली और कंप्यूटर की विशेषता।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *