अमरूद खाने के फायदे, औषधीय लाभ व नुकसान। अमरूद के उपयोग व पत्तों के फायदे।

Please Share This
अमरूद खाने के फायदे, औषधीय लाभ व नुकसान।
अमरूद खाने के फायदे, औषधीय लाभ व नुकसान।

पोस्ट की सम्पूर्ण जानकारी।

स्वास्थ्य के लिए अमरूद के फायदे  नुकसान जाने हिंदी मे Benefits of Guava Fruit In Hindi.  

Best Guava Fruits In Hindi |  Guava Fruits Health Benefits in Hindi | Amrood Khane ke Fayde or Nuksan.| अमरूद खाने के फायदे | अमरूद खाने के फायदे और नुकसानअमरूद खाने के नुकसान | अमरूद के उपयोग | अमरूद के पत्ते खाने के फायदे | अमरूद की तासीर कैसी होती है।

अमरूद का फल अनेकों पौष्टिक तत्वों से भरपूर होने की वजह से यह हमारे स्वास्थ्य की दृष्टि से भी बहुत ही लाभकारी फल है। सारा दिन काम करके हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी आ जाती है। ऐसे में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए फलों का सेवन किया जाता है। सभी प्रकार के फल खाने से शरीर को अलग- अलग पोषक तत्व मिलते है। आज हम आपको अपने इस लेख में अमरूद खाने के फायदे से लेकर अमरूद के औषधीय लाभ व नुकसान और अमरूद के उपयोग व अमरूद के पत्तों के फायदों के बारे में चर्चा करेंगें।

अमरूद की किस्मों के नाम और उनकी जानकारी।

अमरूद की बहुत- सी किस्में है जैसे की लखनऊ- 49 (सरदार अमरूद),चित्तीदार, अर्का मृदुला,ललित, धारीदार,श्वेता,सफेद जाम आदि किस्में बहुत प्रचलित है। अमरूद की कुछ किस्मों का वर्णन इस प्रकार है:-

1. चित्तीदार अमरूद।

इस प्रकार की किस्म का अमरूद सफेदा के समान होता है इस अमरूद के फल की जो सतह होती है उस पर Red Colour के धब्बे होते है तथा इस अमरूद के बीज मुलायम व छोटे आकर के होते है। यह Fruit  हल्के Yellow Colour  का और अंडे के आकर का व चिकना होता है और यह अमरूद खाने में मीठा तथा अंदर से गूदा मुलायम,चिकना और White Colour का  होता है।

2. इलाहाबादसफेदा अमरूद।

इस प्रकार के अमरूद के पेड़  की ऊंचाई सीधी होती है। यह पेड़ मध्यम ऊंचाई के होते है। यह Fruit  मध्यम आकार का, गोल व वजन में लगभग 180 से 250g का होता है। इस अमरूद की सतह चिकनी ,अंदर वाला भाग मुलायम, छिलका सुविकसित व खाने में मीठा एवं रसदार होता है और इस अमरूद के बीज आकार में बड़े व खाने में कड़े होते है।  इस अमरूद की भंडारण छमता अच्छी होती है। एक वृक्ष से लगभग 50 से 60 किलो  अमरूद प्राप्त कर सकते है।

3. एप्पलकलर के अमरूद।

इस प्रजाति के पेड़  मध्यम ऊंचाई वाले व इनका आकार फैला हुआ होता है। यह फल सेब की तरह गोलाकार, चिकना, छिलका गुलाबी, रंग में हरे व लाल Colour के  होते है। अमरूद के गूदे वाला हिस्सा मुलायम,White ,बीज का आकार मध्यम  व सुवास युक्त होता  है और इन फ्रूटो की भंडारण छमता मध्यम आकार की पायी जाती है।

4. ललित अमरूद।

इस किस्म को सी.आई.एस.एच लखनऊ से विकसित किया गया है। यह Fruit आकार में मध्यम, केशरनुमा, रंग में पीले, गूदा गुलाबी और अमरूद की किस्म को संरक्षित पदार्थो के लिए प्रयोग में लाया जाता है। इलाहाबाद सफेदा के विपरीत यह अमरूद 24%  तक अधिक उपज देता है। इस फल का औसत वजन 300 से 350g तक हो सकता है।

5. श्वेता अमरूद।

इस किस्म का अमरूद केन्द्रीय उपोष्या बागबानी संस्थान लखनऊ के द्वारा उपयोग में लाया गया है। यह फल बड़े, गोलाकार, श्वेत, आभायुक्त Yellow रंग के होते है और इस फल में बीज कम, मुलायम व सफेद गूदेवाले होते है।  श्वेता  अमरूद खाने में स्वादिष्ट व मीठे होते है और  विटामिन सी भरपूर मात्रा में पायी जाती है।

6. अर्का अमूल्ला अमरूद।

इस प्रकार के पेड़ो का आकार मध्यम और उत्पादन अधिक देते है। फलों का आकार मध्यम व औसत वजन150 से 200g तक,रंग में सफेद, गूदे मीठे, मुलायम और बीजों आकार छोटा होता है इस फल की भंडारण छमता अच्छी होती है।

अमरूद का पेड़ कैसा होता होता है? – Guava Fruit Tree In Hindi.

अमरूद के पेड़ की लम्बाई उनकी किस्मों के अनुसार अलग अलग होती है। ज्यादातर अमरूद के पेड़ की लम्बाई 8 फ़ीट से लेकर 15 फ़ीट के बिच में ही होती है। अमरूद के तने का रंग स्मूद हरे से लाल-भूरे रंग का होता है। अक्सर अमरूद के तने की छाल का ऊपरी हिस्सा पपड़ी के रूप में हटता रहता है। अमरूद के वृक्ष से वर्षा ऋतू में अनेकों नई टहनिया निकलती है।अमरूद की जो पुरानी डालिया होती है उन पर ही नयी डालिया निकलनी शुरू होती है उन्हीं पर ही फल और फूल आते है। अमरूद का पेड़ लगभग 30 वर्ष तक फल देता है। अमरूद के पत्तों की आकृति लम्बी व अण्डकार होती है। गहरे हरे पत्तों के बिच की नसे (डंडिया) होती है। जो की अमरूद पत्तों को जकड़े रहती है।

अमरूद का फल दिखने में कैसा होता है? – Guava Fruit Benefits in Hindi.

अमरूद खाने में खट्टा- मीठा और स्वादिष्ट होता है। अमरूद के पौधे पर सबसे पहले नई और पुराणी टहनियों के बिच में सफेद फूल आते है और उन्ही फूलों से अमरूद फल का निर्माण होता है जो की फूल आने के लगभग 10 से 15 दिन बाद फल में बदल जाते है। फूल से अमरूद के फल पकने की प्रोसेस लगभग 120-140 दिन तक की होती है। अमरूद का फल दिखने में गोलाकार होता है। यह फल कच्चा होने पर हल्के हरे रंग का और टाइट होता है तथा पक जाने पर हल्के पीले रंग का और खाने में नरम और गूदेदार होता है। अमरूद के अंदर बहुत सारे छोटे- छोटे बीज होते है।

अमरूद फल में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते है? Nutrients Found In Guava Fruits In Hindi.

Amrood का फल पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण हमे कई बीमारियों से भी बचाता है। क्योकि अमरूद विटामिन्स, मिनल्स और फाइबर का अच्छा स्रोत होता है। इसलिए आज हम आपको अमरूद में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में विस्तार से बताएंगे।

जो की इस प्रकार है। :-  मैग्नीशियम, फास्फोरस, सोडियम, जस्ता, पोटैशियम, मैंगनीज, लौह, प्रोटीन, वसा, शुगर, शर्करा, पानी, कार्बोहाइड्रेट, कैलोरी, जिंक व कैल्शियम आदि पोषक तत्व पाए जाते है।

इन सब के अतिरिक्त अमरूद में थायमिन, रिबोफ्लेबिन, नायसिन, फोलेट, और इसके साथ ही अमरूद में विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन बी 6 भी पाया जाता है। इसके साथ ही अमरूद में  एंटी आक्सिडेंट,एंटी डायबिटिक,एंटी फंगल आदि खनिज लवण पाए जाते है।

अमरूद को इंग्लिश में क्या कहते है?

अमरूद को अंग्रेजी में ग्वावा (Gavava) कहते है।

अमरूद का वैज्ञानिक नाम क्या है? Guava Fruit का scientific नाम क्या है ?

अमरूद का वैज्ञानिक नाम सीडियम ग्वायवा( Psidium Gvayva) है।

विश्व में अमरूद की खेती कहाकहा की जाती है

अमरूद की खेती सबसे पहले वेस्टइंडीज में पाया गया। इन सब के अलावा अमरूद की खेती भारत, ब्राजील, बांग्लादेश, पाकिस्तान, थाईलैंड, इण्डोनेशिया, चीन, मेक्सिको व अमेरिका के पेरू देश में भी अमरूद के पेड़ पाएं जाते है। यूरोपीय लोग अमरूद को पेरू फ्रूट (Peru Fruit) कहते है।

अमरुद की तासीर कैसी होती है।

अमरुद की तासीर ठंडी होती है।

भारत में अमरूद की खेती कहाँ पर होती है

अमरूद अक्सर उष्णकटिबंधीय और उप- उष्णकटिबंधीय इलाकों में उगाया जाता है। भारत में अमरूद की पैदावार लगभग सभी राज्यों में की जाती है। जैसे बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महांराष्ट्र, कर्नाटक, उड़ीसा, पश्चिमी बंगाल, आंध्र प्रदेश और तामिलनाडू के अलावा इसकी खेती पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में अमरूद की पैदावार की जाती है। राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले में सबसे अधिक अमरूद की पैदावार की जाती है। छतीसगढ़ के रायपुर में दुनिया का सबसे बड़ा अमरूद उगाया गया। आपको बतादें की ताइवान प्रजाति के अमरूद अंदर से पिंक होते है।

अन्य भाषाओ में अमरूद के नाम | अमरूद का दूसरा नाम। 

अमरूद को अलग अलग भाषाओ में अलग अलग नामों से पुकारते है।

  • English में : Guava.
  • Hindi में : अमरूद।
  • Telugu में : एत्ताजम, जमाकाया।
  • Tamil में : सेगपु, सेन्गोया, गोय्या।
  • Marathi में : जम्बा।
  • Sanskrit में  : दृढबीजम्, मृदुफलम्, पेरुक।
  • Urdu में : अमरूद।
  • Kannada में  :  जामफल।
  • Gujrati में : जमरुड, जमरूख।
  • Nepali में :  अम्बा, अमूक।
  • Punjabi में : अंजीरजाड , अमरूद।

अमरूद के औषधीय गुण और फायदे।

अमरूद में अनेको औषधीय गुण पाए जाते है जो की इस प्रकार है।

  1. अमरूद पुरुषों में फर्टिलिटी को बढ़ाता है।
  2. अमरूद का सेवन दिमाग को स्वस्थ रखता है।
  3. अमरूद खाने से प्यास कम लगती है।
  4. इन सब के अलावा अमरूद खाने से उलटी रूकती है।
  5. और अमरूद खाने से पेट से जुड़ी समस्याएं समाप्त हो जाती है।
  6. अमरूद के औषधीय गुण कैंसर, मधुमेय, दांतो के दर्द, उच्च रक्तचाप आदि को कम करने में फयदेमंद है।
  7. अमरूद फल खाने से बैक्‍टीरियल संक्रमण से बचा जा सकता है।

अमरूद के पत्तों के फायदें और उपयोग। अमरूद के पत्ते खाने के फायदे। 

अमरूद के पत्ते भी काफी गुणकारी होते है। यह भी कई दिकक्तों को दूर करते है। जानिए अमरूद के पत्तों के फयदे:-

  1.  अमरूद की पत्तियों का इस्तेमाल हर्बलचाय बनाने के लिए कर सकते है।
  2. अमरूद के पत्तों को पानी में उबालकर इस पानी कुल्ला करने से मुँह के छाले व दाँत और मसूड़ों के दर्द में फायदा पहुँचता है। और मुँह की बदबू भी कम हो जाती है।
  3. अमरूद के पत्तों की चाय बनाकर पिने से सर्दी-जुखाम व ज्वर में काफी लाभ होता है।
  4. अमरूद के पत्तों का उपयोग शारीरिक एवं मानसिक विकारों तथा मस्तिष्क विकार को दूर करने के लिए किया जाता है।
  5. अमरूद की पत्तियों को उबालकर और फिर पीस कर इसको फोड़े और फुंसी पर लगाने से काफी लाभ मिलता है।
  6. अमरूद की कोमल पत्तियों को चबा चबा कर खाने से भी मुँह के छाले समाप्त हो जाते है।
  7. उलटी में अमरूद के पत्तों का काढ़ा बनाकर पिने से उलटी बंद हो जाती है।
  8. अमरूद के पत्तों का सेवन इम्‍यून सिस्‍टम को भी मजबूत बनाता है।
  9. अमरूद के पत्तों में एंटी डायबिटिक,एंटी फंगल,एवं  एंटीमाइक्रोवियल,के गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते है। जो हमारे लिए काफी लाभदायक होते है।
  10. अमरूद खाने या फिर इसके पत्तों का रस निकालकर पीने से भांग का नशा उतर जाता है।

अमरूद खाने के फायदे। Amrood Fruit HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

अमरूद खाने के फायदे। Amrood Fruit HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

ज्यादातर लोग अमरूद को गरीबों का सेब कहते है। अमरूद खाने के बहुत सारे फायदे है अमरूद हमारे  शरीर को स्वस्थ रखने के साथ- साथ कई बीमारियों को दूर करता है। तो जानते  बताते है अमरूद खाने से कौन -कौन से फायदे होते है:-

1. खांसीजुखाम में अमरूद खाने के फायदे – Benefits Of Eating Guava In Cough And Cold.

खांसी और जुकाम से निजात पाने  लिए कच्चे अमरूद का सेवन करें। कच्चा अमरूद गले में रुकी हुई बलगम को बाहर निकलता है और अमरूद में विटामिन सी और फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते है जो जुखाम के संक्रमण को दूर करता है। व अमरूद की पत्तियों का काढ़ा बनाकर भी पी सकते है। ऐसा करने से खांसी और जुखाम जल्दी ठीक हो जाता है। अमरूद की तासीर ठंडी होती है। इसलिए अधिक मात्रा में सेवन न करें। अमरूद के अर्क में शहद मिलाकर पिने से खासी ठीक हो जाती है।

2. कैंसर के खतरे को कम करे अमरूद के औषधीय गुण। – Medicinal Properties Of Guava May Reduce The Risk Of Cancer.

अमरूद खाने से प्रोस्ट्रेट कैंसर और स्तन कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है। अमरूद में फाइबर और विटामिन सी उच्च मात्रा में पायी जाती है। इसके अलावा अमरूद की पत्तियां भी कैंसर को बढ़ने से रोकती है क्योंकि इसकी पत्तियों से निकलने वाले अर्क में कैंसर को रोकने की ताकत होती है। अमरूद में लाइकोपीन, क्वेरसेटिन, नामक तत्व पाया जाता है। जो की शरीर में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट का कार्य करता है। जो की कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते है  और यह प्रोस्ट्रेट कैंसर के खतरे से बचाता है।

3. चिंता और तनाव को दूर करे अमरूद के गुण। – Benefits Of Guava To Relieve Anxiety And Stress.

अमरूद में पाया जाने वाला मैग्नीशियम तनाव और चिंता को दूर करने में सहायता करता है अमरूद मांसपेशियों के लिए काफी अच्छा माना जाता है। पूरा दिन काम करने वाले व्यक्तियों को अपने आहार में एक अमरूद रोज नियमित रूप से खाना चाइये। जिससे शरीर को एनर्जी मिलती रहे ताकि तनाव, स्ट्रेस और चिंता दूर रहे।

4. कब्ज से छुटकारा दिलाये अमरूद खाने के फायदे – Benefits Of Eating Guava To Get Rid Of Constipation.

रोज एक अमरूद खाने से पाचन तंत्र में सुधार होता है। अमरूद में पाए जाने वाले फाइबर, पोटैशियम, विटामिन सी, की वजह से पाचन तंत्र मजबूत रहता है। जिससे कब्ज की समस्या नहीं रहती और पेट स्वस्थ एवं साफ रहता है। आप चाहे तो अमरूद का मुरब्बा भी खा सकते है। क्योकि अमरूद में लैक्सटिव का गुण पाया जाता है। जो कब्ज की समस्या में काफी लाभकारी होती है।

5. आँखो की रोशनी बढ़ाए अमरूद खाने के फायदे – Benefits Of Eating Guava To Increase Eyesight.

बढ़ती उम्र के प्रभाव के कारण आँखे कमजोर और कम दिखाई देने लग जाता हैं। ऐसे में हमे नियमित रूप से अमरूद का  सेवन करना चाहिए जिससे आँखे कमजोर नहीं होंगी और कम दिखाई देना, आँखों में मोतियाबिंद,  आँखों में पानी आना आदि समस्याएं दूर होंगी। क्योंकि अमरूद में विटामिन ए पाया जाता है जो आँखों की दृष्टि बढ़ाने में हमारी सहायता करता है। साथ ही अमरूद में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी भी पाया जाता है जो आँखों को सूर्य की रौशनी से होने वाले नुकसान से भी बचाता है। इसलिए अमरूद फल का सेवन उचित माना जाता है। जो बच्चे ज्यादातर टी.वी देखते है या अधिक समय तक पढ़ते है अक्सर उनकी आँखें कमजोर होने लगती है। ऐसी स्थिति में बच्चों को एक अमरूद जरूर दें।

6. वजन घटाने के लिए अमरूद खाने के फायदे – Benefits Of Eating Guava For Weight Loss.

अमरूद खाने से मोटापे को कम किया जा सकता है। अगर आप रोज एक अमरूद का सेवन करते है तो आप को भूख कम लगेंगी। अमरूद में अन्य फलों के मुकाबले जैसे की संतरा, मौसमी सेब,अंगूर की तुलना में कम शुगर पाई जाती है। अमरूद में फाइबर और प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाए जाते है। अमरूद में जो फाइबर पाया जाता है वह मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाता है। इसके आलावा आप अमरूद की पत्तियों की चाय बनाकर भी पि सकते है। अमरूद और अमरूद के पत्ते दोनों ही वजन कम करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है। एक अमरूद में 112 कैलोरी होती है जिससे बहुत समय तक भूख का अहसास नहीं होता।

7. दिल को स्वस्थ रखे अमरूद के लाभ। – Guava Benefits To Keep Heart Healthy.

अमरूद शरीर में पोटैशियम और सोडियम के संतुलन को बनाए रखता है जिससे उच्च रक्तचाप का स्तर भी ठीक रहता है।  जिस तरह अन्य फल फाइबर के अच्छे स्त्रोत है उसी प्रकार अमरूद भी डाइटरी फाइबर का अच्छा स्त्रोत है अमरूद आंत एवं दिल को ठीक व स्वस्थ रखता है। इसलिए ह्रदय रोग से संबंधित विकार को दूर करने के लिए आप अमरूद का जूस, मुरब्बा या फिर अमरूद की चटनी बनाकर खा सकते है।

8. गर्भावस्था में फायदेमंद अमरूद। – Guava Beneficial In Pregnancy.

अमरूद गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद फल  है क्योंकि अमरूद में विटामिन बी6, बी9, ए, के और फोलिक एसिड पाया जाता है। ये सभी विटामिनस गर्भवती महिलाओं को बहुत लाभ पहुंचाते है। यह शिशु को न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर विकारो से बचता है। गर्भवती महिलाओं को अमरूद जरूर खाना चाहिए। यह फल माँ नवजात शिशु के लिए बहुत ही फायदेमंद है। परन्तु यह सभी डॉक्टर की देखभाल में होना चाहिए।

अमरूद के नुस्खे और उपयोग।

  1. अमरूद की दो या तीन पत्तियों को दांतो से चबाने पर या फिर अमरूद के पत्तों का काढ़ा बनाकर, उसमे फिटकरी मिला ले,इस मिले हुए काढ़े से कुल्ला करे। ऐसा करने से दांतो के दर्द से जल्दी छुटकारा मिलता है।
  2. अमरूद के पत्ते में एक टुकड़े कत्थे को लपेट, जिस तरह पान लिपटा होता है पत्ते से लिपटे हुए कत्थे को पान की तरह दांतो से चबाने पर मुँख में जो छाले है वे जल्दी ठीक हो जाते है।

अमरूद खाने के तरीके उपयोग। – How to use Guava fruit In Hindi.

अमरूद खाने के फायदों के बारे में तो आप जान गए होंगे तो अब हम आपको अमरूद खाने के तरीके व उपयोगों के बारे में भी बताएंगे, की आप अमरूद का उपयोग किन- किन चीजों  में कर सकते  है और कैसे इसका सेवन कर सकते है। अमरूद के अन्य तरीके और उपयोगो का वर्णन इस प्रकार है।

  1. अमरूद हमेशा पका हुआ खाये यह खाने में मीठा और स्वादिष्ट होता है।
  2. कभी भी आप अमरूद खाये तो काट कर ही खाये,क्योंकि कई बार पके हुए अमरूद में कीड़े भी हो सकते है।
  3. अमरूद को धो कर और काट कर एक प्लेट में डाल लें ऊपर से चाट मसाला या फिर नमक डाल कर सेवन कर सकते है।
  4. अमरूद का आप जूस भी बना कर पी सकते है।
  5. कच्चा अमरूद टाइट  होता है। यह खाने में थोड़ा मीठा और कड़वा लगता है। इसके लिए आप इसके टुकड़ो पर नमक लगा कर खा सकते है।
  6. कच्चे अमरूद की सब्जी भी बना कर खा सकते है।
  7. कच्चे अमरूद की चटनी भी बनाकर खाई जा सकती जो की बहुत ही स्वादिष्ट लगती है।
  8. इसके साथ ही कच्चे अमरूद का अचार भी बना कर खाया जा सकता है। यह खाने में बहुत ही चट -पटा लगता है।
  9. अमरूद का आप मुरब्बा बनाकर भी खा सकते है। इसके आलावा आप अमरूद का हलवा, अमरूद के कोफ्ते, अमरूद का जैम बनाकर भी अमरूद का सेवन कर सकते है।

अमरूद खाने के नुकसान। – Guava fRUIT HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

अमरूद का सेवन अगर सीमित मात्रा में किया जाये तो यह नुकसानदायक नहीं होता है। अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया गया तो यह नुकसान पहुंचा सकता है। तो आईये बताते है अमरूद खाने के नुकसानों के बारे में:-

  1. अमरूद को रात के समय में कभी भी ना खाये, क्योंकि इससे पेट में ऐंठन और पेट दर्द की समस्या हो सकती है।
  2. जरूरत से ज्यादा अमरूद ना खाये क्योंकि अमरूद में फाइबर की उच्च मात्रा पायी जाती है जिससे पेट में दर्द हो सकता है।
  3. गर्भवती महिलाओं को अमरूद का कम ही सेवन करना चाहिए, अगर ज्यादा सेवन करेंगी तो पेट में गैस और डायरिया होने की समस्या हो सकती है।
  4. अगर आप स्वास्थ्य के प्रति किसी दवाई का सेवन कर रहे है और आपको पोटैशियम और फाइबर का सेवन कम बताया गया है तो आप अमरूद खाने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से जरूर परामर्श कर लें।
  5. अधिक अमरूद का सेवन करने से पेट में गैस और उलटी जैसी समस्या भी हो सकती है।
  6. अधपका अमरूद खाने से दातों में दर्द भी हो सकता है।
  7. नोट:- किसी भी फल की अधिकता नुकसान का कारण बनती है इसलिए सिमित मात्रा में ही फलों का सेवन करें।

Note :- हमारी यह वेबसाइट आपको किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह नही देता हैं. बताए गए घरेलू  उपचारों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से सम्पर्क जरुर करे।

Subject :- 
Amrud Fruit Khane Ke Labh | Amrud Fruit Khane Ke Gun | Guava Fruit Khane Ke Fayde | Amrood Fruit In Hindi |  Amrood Ke Fayde. |

निष्कर्ष:-

दोस्तों आज की हमारी पोस्ट Amrood Fruit Khane Ke Gun, Amrud Fruit Ke Fayde In Hindi आपको अच्छी लगी तो हमे Comment करके जरूर बताए। और ऐसी ही नई व इंट्रेस्टिंग जानकारी लेने के लिए हमारी  Website  फॉलो करे।

Read More :-

Please Share This
Previous Article
Next Article

One Reply to “अमरूद खाने के फायदे, औषधीय लाभ व नुकसान। अमरूद के उपयोग व पत्तों के फायदे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *