शहतूत फल के फायदे, नुकसान और औषधीय लाभ। Mulberry Benefits in Hindi.

Please Share This

शहतूत खाने के फायदे व नुकसान क्या आप जानते है। Mulberry Benefits in Hindi.

पोस्ट की सम्पूर्ण जानकारी।

Mulberry Fruit Khane Ke Aushadhiya Labh or Fayde. शहतूत खाने के फायदे ।

शहतूत फल के फायदे | Mulberry Health Benefits Side Effects In Hindi | शहतूत फ्रूट के फायदे | Mulberry fruit Khane ke fayde Hindi me | Benefits of Mulberry in Hindi | सेहत के लिए शहतूत फल खाने के फायदे गुण व नुकसान। | शहतूत के पत्ते खाने के फायदे | शहतूत कितने प्रकार के होते हैं। | 

हेलो फ्रेंड्स आज हम आपको शहतूत के बारे में बताएंगे।  शहतूत गर्मियों में गर्मी से निजात दिलाता है। गर्मियों में शहतूत की भरमार होती है। शहतूत हमारे शरीर को कई प्रकार की बीमारियों से निजात दिलाता है।  आयुर्वेद में शहतूत का उपयोग औषधि की तरह किया जाता है शहतूत खाने से पेट की गर्मी दूर होती है। साथ ही शहतूत यूरिन से संबंधित समस्या से निजात, व खुजली की समस्या में आराम, आंखों की रोशनी, रक्तचाप, कैंसर, हड्डियों को मजबूत बनाने में बहुत ही सहायक है। तो चलिए शुरू करते है। शहतूत फल खाने के फायदे एवं नुकसान –  Mulberry Health Benefits and Side-Effects in Hindi.

शहतूत का पेड़ कैसा दिखाई देता है-  Mulberry Fruit Tree In Hindi.

शहतूत का पेड़ सदाबहार वृक्ष होता है जिसकी ऊंचाई लगभग 40-60 फीट तक होती है। शहतूत की लकड़ी या टहनिया आसानी से मुड़ने वाली व काफी लचीली होती है। इसका तना गहरे भूरे रंग के साथ खुरदरा होता है। शहतूत के पत्तों का आकर इनकी किस्मो के आधार पर विभिन्न प्रकार के होते हैं। प्राय शहतूत के पत्ते चौड़े अण्डाकार व गोलकार होते हैं। इसके फूल हरे रंग के होते हैं। शहतूत के रोपण के बाद लगभग 5 साल बाद यह फल देने लग जाता है।  जिनका उपयोग के औषधीय रूप में किया जाता है।

शहतूत का फल दिखने में कैसा होता है। Mulberry Fruit Benefits in Hindi.

शहतूत फल की किस्मों के आधार पर इसके फल लंबे गोलाकार व छोटे गोलाकार होते है। इन्ही के अंदर शहतूत के छोटे छोटे बीज होते है। शहतूत खाने में खट्टा- मीठा फल होता है। शहतूत की कई किस्में मौजूद है। जैसे कि लाल शहतूत, हरा शहतूत, काला शहतूत आदि। शहतूत के फल में जितना अधिक रसीलापन और मीठास होगी। उतनी ही अधिक मात्रा में इस में एंटीआक्सीडेंट पाए जाते है। शहतूत हमारे शरीर पर उम्र के प्रभाव को कम करने में हमारी मदद करता है। शहतूत फल के पेड़ लगभग मार्च और अप्रैल में फल पकना शुरू हो जाते है। आपको बता दूँ की रेशम के कीड़ों को पालने के लिये सफेद शहतूत की खेती की जाती है।

शहतूत फल में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Found In Mulberry Fruits In Hindi.

गरमी के मौसम में शहतूत का सेवन शरीर में पानी की कमी को दूर करता है। पौष्टिकता की नजर से देखें तो शहतूत का उपयोग औषधि की तरह किया जाता है. क्योकि शहतूत की अंदर बहुत अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते है। जो  हमारी सेहत के लिए एक लाभकारी है। शहतूत में पाए जाने वाले पोषक तत्व इस प्रकार हैं:- कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटैशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, विटामिन सी, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी, फोलेट (डीएफई), विटामिन ए (आरएई) और विटामिन ई आदि पोषक तत्व शहतूत में पाए जाते है।

शहतूत फल को इंग्लिश में क्या कहते है?

शहतूत का अंग्रेजी नाम :- शहतूत (Shahtoot) को अंग्रेजी में Mulberry Fruit कहते है।

शहतूत (Mulberry) Fruit का scientific नाम क्या है ?

शहतूत फल का पेड़ (Mulberry) मॉरेसी पादप कुल से ताल्लुक रखता हैं। शहतूत  का वानस्पतिक नाम : Morus alba  (मोरस अल्बा) है।

शहतूत फल खाने से होने वाले फायदे:
  • शहतूत फल खाने से हमारी पाचन शक्ति बढ़ती है।
  • सर्दी-जुकाम में शहतूत फल खाना बहुत ही फायदेमंद होता है।
  • जिन लोगो को पेशाब की समस्या है उन लोगों को भी शहतूत फल का सेवन जरूर करना चाहिए है।
  • शहतूत फल खाने से हमारी आंखों की रोशनी बनी रहती है।
  • गर्मियों के मौसम में शहतूत फल का सेवन हमे लू लगने से बचाता है।
  • शहतूत फल का सेवन लीवर से जुड़ी समस्या में भी लाभदायक होता है।

शहतूत का सेवन किस तरह कर सकते है। How can you consume mulberry?

  •  शहतूत को अच्छी तरह पानी में धोकर खाना चाहिए।
  • Shahtoot को फ्रूट चाट में मिलाकर भी खा सकते हैं।
  •  शहतूत का जूस बनाकर भी पी सकते है।
  • Mulberry की स्मूदी बनाकर भी खा सकते हैं।
  • शहतूत का शर्बत बनाकर भी पी सकते है।
  • शहतूत फल का सेवन चटपटी चटनी बना कर भी कर सकते है।
  • Mulberry फल का सेवन जेली बना कर भी कर सकते है।

भारत में Shahtoot की खेती कहा की जाती है? –  Mulberry Fruit cultivation In India.

भारत में उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और हिमाचल, पश्चिम बंगाल, कर्नाटका, आंध्रा प्रदेश प्रदेश और तामिलनाडू आदि राज्यों में इसकी खेती अधिक की जाती है। वैसे तो भारत के अंदर शहतूत के पेड़ आपको हर राज्य में देखने को मिल जाएंगे।

कुछ अन्य भाषाओं में शहतूत के नाम। 

  • Hindi में – शहतूत, तूत, तुतरी, चिन्नी।
  • Gujarati में – शेतूर।
  • Telugu में रेशमीचेट्टु।
  • Tamil में – पट्टूपूची (Pattupuchi), काम्बीलीपुच।
  • Bengali में – तूत।
  • Marathi में – तूत।
  • English में – Mulberry (मलबेरि)।
  • Sanskrit में – मृदुसार, सुपुष्प, ब्रह्मदारु, तूद।

खट्टा- मीठा शहतूत फल खाने के फायदे – Mulberry HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

खट्टा- मीठा शहतूत खाने के फायदे - Mulberry HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

शहतूत फल खाने से बहुत सारे फायदे मिलते हैं आज हम इन्हीं फायदों के बारे में आपको बताएंगे। शहतूत के फल में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते है. जो हमारे शरीर में रोगो से लगने की छमता बढ़ाते है। शहतूत का औषधीय उपयोग रक्त टॉनिक, चक्कर आना, कब्ज, टिनिटस आदि के उपचार के लिए इस्तमाल में लाया जाता है। शहतूत के पत्ते, छाल, जड़, बीज और फल बहुत ही गुणकारी होते हैं। चलिए तो शुरू करते है। शहतूत खाने के फायदे, घरेलू नुस्खे व उपयोग के बारे में जानकारी।

1. आंखों की रोशनी तेज करे शहतूत के उपयोग। – Use Of Mulberry To Brighten The Eyes.

आजकल बच्चों से लेकर बड़ों में आँखों की समस्या होने लग गयी है। आपको बतादें की शहतूत खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। क्योकि शहतूत में विटामिन A उच्च मात्रा पाई जाती है जिससे हमारी आंखों की सारी समस्या जैसे आंखों में खुजली होना, रूखापन होना आदि दूर हो जाती है।

2. पेट के कीड़े खत्म करें शहतूत खाने के फायदे। – Eliminate Stomach Worms: Benefits Of Eating Mulberry.

अगर जिन लोगों पेट से संबंधित समस्या है तो वे शहतूत का सेवन करें। विटामिन A, कैल्शियम, पोटेशियम और फास्फोरस पेट के कीड़ों को मरने में महत्वपूर्ण निभाते है। इससे उनकी पेट से संबंधित समस्या दूर होगी। जैसे कि पेट में दर्द होना, पेट में कीड़े होना शहतूत इन दिक्कतों को दूर करता है। पेट में कीड़े होने की समस्या अक्सर छोटे बच्चों में अधिक होती है। इसलिए बच्चों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

3. त्वचा संबंधित समस्या में शहतूत के फायदे। – Benefits Of Eating Mulberry In Skin Related Problem.

शहतूत त्वचा के लिए एक बेहतरीन फल है शहतूत में विटामिन ए और विटामिन ई पाया जाता है। जो हमारी त्वचा को बहुत ही फायदा पहुंचाता है। इसके अलावा शहतूत में एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण भी पाए जाते हैं। जो हमारी त्वचा पर ग्लो का काम करता है। साथ ही शहतूत हमरी त्वचा के दाग-धब्बे को भी कम करने में साहयक है। और अल्ट्रावायलेट किरणों से भी हमारी त्वचा को बचाता है। शहतूत का उपयोग बढ़ती उम्र के प्रभाव को भी कम करता है। जिससे त्वचा सूंदर और मुलायम बनी रहती है। ऐसे में प्रतिदिन शहतूत के जूस या शर्बत का सेवन आपके लिए फायदेमंद होगा।

4. पाचन तंत्र को तंदुरुस्त बनाए शहतूत के फायदे। – Benefits Of Eating Mulberry To Make The Digestive System Healthy.

शहतूत पाचन क्रिया में बेहद लाभकारी फल है। शहतूत में फाइबर पाया जाता है। जो हमारे पेट की समस्या जैसे कब्ज, ऐंठन, गैस और पेट दर्द नहीं होते हैं। इसके लिए आप कच्चे शहतूत का पाउडर बनाकर उसका सेवन करना चाहिए। जिससे हमारे शरीर की पाचन क्रिया को मजबूती मिलती है। इसलिए हमे अपनी खराब पाचन शक्ति को सही करने के लिए शहतूत का सेवन जरूर करना चाहिए।

5. इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करे शहतूत फल के फायदे।

शहतूत खाने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। क्योकि इस फल में मौजूद पोषक तत्व विटामिन सी और एल्केलॉयड शरीर में बिमारियों को आने नही देते है। इसलिए शहतूत हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को और भी बहत्तर बनाए रखने में मदद करता है। जिससे हमारा शरीर सुचारू रूप से कार्य करता रहता है। हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होने पर साधारण बीमारियों आसानी से बचा जा सकता है।

6. दिल को स्वस्थ रखने में शहतूत के फायदे। – Benefits Of Eating Mulberry To Keep The Heart Healthy.

शहतूत खाने से हमारा दिल स्वस्थ रहता है। शहतूत की पत्तियां का सेवन बहुत दिल को स्वस्थ रखने में फायदेमंद मानी जाती हैं। क्योकि शहतूत की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते है। जिससे दिल सुचारू रूप से काम करता है। शहतूत खाने से खून का प्रभाव भी ठीक रहता है। शहतूत की पत्तियों का सेवन करने कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है।

7. सर्दी- जुकाम में लाभकारी शहतूत के फायदे। – Winter- Benefits Of Eating Beneficial Mulberry In Cold.

शहतूत खाने से हमें सर्दी जुकाम नहीं होती। शहतूत एक दवा का काम करता है। जिसे खाने से सर्दी जुकाम जैसी समस्या दूर होती है।  जुकाम होने पर हमें छींके आना, खांसी होने जैसे दिक्कत हो जाती है इन दिक्कतो  को हम शहतूत खाने से दूर कर सकते हैं। सफेद शहतूत में बैक्टीरिया को मारने के गुण के साथ फ्लैवोनोइड्स भी पाया जाता है। जिससे आपको फ्लू और ठंड जैसी बीमारी से राहत मिलती है।

8. बालों को स्वस्थ रखने के लिए शहतूत फल के फायदे। – The Benefits Of Mulberry To Keep Hair Healthy.

शहतूत एंटीऑक्सीडेंट, कैल्शियम, आयरन, विटामिन सी और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। जो हमारे बालों की जडों को मजबूती प्रदान करते है। इसके साथ ही शहतूत शरीर में मेलेनिन को बढ़ाता है जो की आंखों की पुतली, बालों और त्वचा को प्राकृतिक रंग प्रदान करता है। जिससे हमारे बाल समय से पहले सफेद नहीं होते हैं। शहतूत से बालों में रूसी की समस्या भी नहीं होती है। इसलिए हमे नियमित रूप से शहतूत फल के रस या फिर शहतूत के फल का सेवन करते रहना चाहिए।

9. स्वस्थ मष्तिष्क में फायदेमंद शहतूत फल के फायदे। – Advantages Of Beneficial Mulberry In A Healthy Brain.

शहतूत वृद्धावस्था तथा बढती उम्र में होने वाली मानसिक कमजोरी कि समस्या से निजात दिलाता है। क्योकि शहतूत में कैल्शियम की मात्रा होती है। जो हमारे दिमाग को स्वस्थ बनाए रखने में काफी कारगर होता है। साथ ही शहतूत का सेवन अल्जाइमर की बीमारी में भी अपनी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। काले शहतूत के अंदर सीखने की कमी में सुधार और मेमोरी रिटेंशन जैसे गुण पाए जाते है।

10. स्ट्रोक से बचाने में सहायक शहतूत। – Beneficial mulberry to protect from stroke.

शहतूत खाने से गर्मी के दिनों में होने वाले स्ट्रोक से बचा जा सकता हैं। शहतूत खाने या शहतूत का रस पिने से शरीर स्वस्थ रहता है और स्ट्रोक के लक्षण दूर हो जाते हैं। शहतूत का सेवन दिल के लिए भी लाभदायक है। यह शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। इसलिए शहतूत का सेवन स्ट्रोक और दिल के दौरे की समस्या से पीड़ित लोगों को नियमित शहतूत खाना चाहिए।

शहतूत फल खाने के कुछ अन्य फायदे। 

  1. शहतूत खाने से किडनी को बीमारयों से बचाया जा सकता है। क्योकी शहतूत में पाये जाने वाले पोषक तत्व शरीर में किडनी स्टोन के लक्षणों को दूर करते हैं।
  2. शहतूत में पाये जाने वाले ये खनिज तत्व जैसे विटामिन क, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम आदि सभी पोषक तत्व से भरपूर हड्डियों को क्षतिग्रस्त होने से बचाने के साथ साथ शहतूत हड्डियों के ऊतकों के निर्माण में मदद करता है।
  3. कब्ज की समस्या होने पर शहतूत का उपयोग किया जा सकता है। आप शहतूत के फलों के रस का सेवन कर कब्ज की समस्या से निजात पा सकते है।
  4. मुंह में छाले होने पर भी शहतूत के पत्तों का इस्तमाल किया जा सकता है। मुंह में छाले होने पर शहतूत के पत्तों को चबाने से मुंह के छालों से राहत मिलती है।
  5. पैरों की एड़ियां फटने पर भी शहतूत का उपयोग किया जाता है। शहतूत के बीजों को बारीक़ पीस कर फटी एड़ियों में भरने से एड़ियां जल्दी ठीक हो जाती है।
  6. रेशम के कीड़ों को पालने के लिए शहतूत की खेती की जाती है। ताकि रेशम कीड़े शहतूत के पत्तों को खा सके। बाद में इन कीड़ों से रेशम तैयार किया जाता है।

शहतूत की लकड़ी का उपयोग। – The Use Of Mulberry Wood.

शहतूत की लकड़ी का उपयोग कृषि उपकरण बनाने के साथ साथ हाकी स्टिक, टेबल टेनिस रैकेट और संगीत वाद्ययंत्र आदि बनाने में किया जाता है। क्योंकि शहतूत की लकड़ी आसानी से मुड़ने वाली होती है। शहतुत की टहनियाँ भी काफी लचीली होती है। जिसको किसी भी आकार में आसानी से डाला जा सकता है। शहतूत की टहनियों से टोकरियाँ भी बनाई जाती है। जिसका उपयोग अक्सर पुराने समय में फलों व सब्जियों को इन टोकरियों में डालकर मंडियों में पहुँचाया जाता था। आज के समय में शहतूत की टहनियों से बने टोकरियाँ व अन्य सामन का उपयोग घरों में सजावट के लिए किया जाता है।

शहतूत खाने के नुकसान – Shahtoot HEALTH Benefits And Side Effects In Hindi.

  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिला को शहतूत से बचना चाहिए। ऐसे में महिलाओं को काफी नुकसान हो सकता है।
  • शहतूत का अत्यधिक मात्रा में सेवन त्वचा कैंसर का कारण बन सकता है। इसलिए व्यक्ति को अपने शरीर व अपनी बिमारियों से लड़ने की छमता के आधार पर इसका सेवन करे।
  • शहतूत का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट खराब, सिरदर्द, चक्कर और अत्यधिक पसीना आना जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।
  • लिवर की समस्याओं वाले रोगि भी शहतूत का सेवन करने से बचे क्योकि अधिक मात्रा में शहतूत के सेवन से लिवर पर भार हो सकता है जो बाद में हमारे अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • किडनी की बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को शहतूत नहीं खाना चाहिए क्योंकि शहतूत में अधिक मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है जो शरीर में किडनी की समस्या को उत्तपन कर सकता है।
  • कुछ लोगो को शहतूत खाने से त्वचा संबंधित एलर्जी हो सकती है। इसलिए ऐसे व्यक्ति शहतूत के सेवन से बचे।
  • Note :- हमारी यह वेबसाइट आपको किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह नही देता हैं. बताए गए घरेलू  उपचारों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से सम्पर्क जरुर करे।
Subject :- 

Shahtoot Khane Ke Labh | Shahtoo Fruit Khane Ke Gun | शहतूत खाने के फायदे | शहतूत खाने के फायदे और नुकसान |  शहतूत खाने के नुकसान | शहतूत फल के उपयोग | शहतूत खाने के फायदे | शहतूत फल के फायदे और लाभ | Mulberry Fruit Khane Ke Fayde | Mulberry use In Hindi |  

निष्कर्ष:-

दोस्तों आज की हमारी पोस्ट Shahtoot Khane Ke Gun, Shahtoot Fruit Ke Fayde In Hindi  आपको अच्छी लगी तो हमे Comment करके जरूर बताए। और ऐसी ही नई व इंट्रेस्टिंग जानकारी लेने के लिए हमारी  Website  फॉलो करे।

Read More :-

Please Share This
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *